1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

लौट आए अंतरिक्ष यात्री

एक अमेरिकी और दो रुसी अंतरिक्ष यात्री खराब मौसम के बावजूद सुरक्षित धरती पर लौट आए हैं. सोची विंटर ओलंपिक से पहले यही रुसी अंतरिक्ष यात्री मशाल अंतरिक्ष में ले गए थे.

ये तीनों अंतरिक्ष यात्री 166 दिन इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आईएसएस) पर रहे. रूस के मिशन कंट्रोल में लगे टीवी स्क्रीन पर लिखा आया, "हम लैंड कर रहे हैं." ये यात्री सेंट्रल कजाखस्तान में उतरे. नासा टीवी उद्घोषक ने कहा, "धरती पर सुरक्षित वापसी. सभी अंतरिक्ष यात्री स्वस्थ हैं."

उतरने वाले यात्रियों में आईएसएस कमांडर ओलेग कोतोव के साथ फ्लाइट इंजीनियर सेर्गेई रैजांस्की और नासा के माइकल हॉपकिंस शामिल थे. ये सभी 25 सितंबर को अंतरिक्ष में गए थे.

35 वैज्ञानिक प्रयोगों के अलावा कोतोव और रैजांस्की ने 2014 के शीतकालीन ओलंपिक खेलों से पहले नौ नवंबर के दिन मशाल को स्पेस वॉक भी करवाया.

अब अंतरिक्ष स्टेशन पर जापान के कोइची वाकाता के नेतृत्व में एक छोटी टीम है. कोइची जापान से आईएसएस पर पहुंचने वाले पहले व्यक्ति हैं. इस महीने के आखिर में और तीन अंतरिक्ष यात्री वहां पहुंचने वाले हैं.

खराब मौसम के कारण लैंडिंग में देरी होने की आशंका थी. लेकिन वे समय से नीचे उतर आए. नासा मिशन के कमेंटेटर ने कहा, "जमीन पर बहुत बर्फ है और तापमान भी काफी कम है."

भारी ठंड के कारण मैदान पर सामान्य मेडिकल टेस्ट के लिए टेंट नहीं लगाया गया. अंतरिक्ष यात्रियों को कजाख शहर में ले जाया जाएगा और वहां उनका मेडिकल चेकअप किया जाएगा. यहीं औपचारिक वेलकम समारोह भी आयोजित किया जाएगा.

धरती से 418 किलोमीटर दूरी पर उड़ते 100 अरब डॉलर के अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर नवंबर 2000 से लगातार अंतरिक्ष यात्री रहते हैं, वे अपने प्रयोगों के अलावा स्टेशन की देख रेख भी करते हैं.

नासा के अगले अंतरिक्ष यात्रियों में स्टीव स्वैंसन, रूस के अलेक्जैंडर स्क्वोर्तसोव और ओलेग आर्तेमेव 25 मार्च को आईएसएस के लिए उड़ान भरेंगे.

एएम/आईबी (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री