1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लोगों को लुभाए बंबैया स्विस फ़िल्म तंदूरी लव

एक नयी फ़िल्म जर्मन सिने प्रेमियों को सिनेमा घरों में खींच रही है. तंदूरी लव उस देश में बनी है, जिस के बर्फ से ढके पहाड़ों और हरे भरे ढलानों पर हीरो-हिरोइनों को नाचते गाते देखने को भारतीय दर्शक दीवाने रहते हैं.

default

मैं, तुम और वो

स्विट्ज़रलैंड में बनी यह फ़िल्म एक कोप्रोडक्शन है. सिर्फ़ इसी दृष्टि से नहीं कि भारतीय अभिनेता विजय राज फ़िल्म के हीरो हैं. उसकी कथा-कहानी, शैली और गीत-संगीत भी बॉलीवुड फ़िल्मों से प्रेरित है.

तंदूरी लव के कथा लेखक और निर्देशक ओलिवर पाउलुस कहते हैं कि उनकी यह फ़िल्म भारतीय सिनेमा, गीत-संगीत और नृत्य ही नहीं, भारतीय खाने के प्रति भी उनका प्रेम-निवेदन है, "मैं 20 साल पहले पहली बार भारत गया था. उस यात्रा ने ही मुझे यह फ़िल्म बनाने की प्रेरणा दी. वहां एक देहाती सिनेमा घर में एक बॉलीवुड फ़िल्म देख कर बड़ा मज़ा आया. फ़िल्म में एक सीन था कि उसके कलाकार स्विट्ज़रलैंड के एक छोटे-से गांव में नाच रहे हैं. यह सीन वैसा ही था

Schweiz Filmszene Kino Tandoori Love Flash-Galerie

सोन्या और राजा

जैसा तंदूरी लव में भी है कि सारा ट्रैफ़िक थम गया और स्विस लोग नाक-भौं सिकोड़ने लगे. मुझे यह विचार बहुत अच्छा लगा कि भारत की रेलपेल, रंगीनी, ख़ुशमिजाज़ी और सिरफिरेपन को स्विट्ज़रलैंड के एक छोटे-से सुव्यवस्थित गांव ला कर वहां सब कुछ गड्ड-मड्ड होते दिखाया जाये."

फ़िल्म का कथानक पूरी तरह बंबैया है. एक बॉलीवुड टीम शूटिंग के लिए स्विट्ज़रलैंड आती है. विजय राज़ फ़िल्म टीम के रसोइये हैं. खाना बनाते समय मनबहलाव के लिए उन्होंने एक स्वर्णकेशी

Schweiz Filmszene Kino Tandoori Love

सुंदरी का फ़ोटो लगा रखा है. एक बार सुपर मार्केट जाते समय एक वैसी ही सुंदरी उन्हें अपनी ओर आती दिखती है. बस, क्या था. दिलफेंक राजा (विजय राज़ का फ़िल्म में यही नाम है) तुरंत दिल दे बैठते हैं और गाने लगते हैं.

लेकिन, राजा के सपनों की रानी सोन्या की किसी और के साथ मंगनी हो चुकी है. वह चली जाती है. लेकिन, जहां चाह हो, वहां राह भी मिल ही जाती है. दोनों फिर मिलते हैं-- उस रेस्तरां में, जो सोन्या के मंगेतर का है.

तंदूरी लव केवल कोई प्रेमकथा ही नहीं, कॉमेडी और किचन का मिश्रण भी है. उस में वे सारे मसाले हैं, जो बॉलीवुड फ़िल्मों को चटखारेदार बनाते हैं. तब भी, उसका अपना एक अलग स्वाद भी है. कुशल कैमरा संचालन अभिनेताओं को ही

Schweiz Filmszene Kino Tandoori Love

नहीं, आलू-टमाटर से लेकर गाय-बकरी तक हर चीज़ को नचा देता है-- मनोरंजन से भरपूर. निर्माता और निर्देशक ओलिवर पाउलुस कहते हैं, "गानों वाले डांस-सीन बॉलीवुड फ़िल्मों की जान हैं. लेकिन, आप सब्ज़ियों-तरकारियों से नाचने की उम्मीद तो नहीं कर सकते. मैं चाहता था कि सब कुछ नाचे - सब्ज़ियां भी नाचें, गायें भी नाचें, किसान भी नाचें."

तंदूरी लव फ़िलहाल ऐसे सिनेमा घरों में चल रही है, जो लीक से हट कर फ़िल्में दिखाने वाले प्रोग्राम सिनेमा घर कहलाते हैं. वहां लोगों की भीड़ नहीं टूटती. वे लोग आते हैं, जो नवीनता चाहते हैं. हल्की-फुल्की होते हुए भी तंदूरी लव में यूरोपीय दर्शकों के लिए काफ़ी नवीनताएं हैं. उसे समझने के लिए भाषा की ज़रूरत नहीं है. भाषा उसके नाच-गाने हैं.

वैसे, जिसे फ़िल्म के संवाद समझने में सचमुच दिलचस्पी हो, उसे स्विस बोली वाली जर्मन, बॉलीवुड हिंदी और अंग्रेज़ी-- यानी तीन-तीन भाषाएं आनी चाहिये.

रिपोर्ट: राम यादव

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री