1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

लोकप्रिय हो रहा आंशिक रेडिएशन इलाज

स्तन के कैंसर के उपचार में एक नई रेडिएशन चिकित्सा खासकर बीमा कराए मरीजों में लोकप्रिय होती जा रही है, हालांकि उसके लाभदायक होने के अच्छे नतीजे सामने नहीं आए हैं.

default

बीमा कंपनियों के अनुसार लुम्पेक्टोमी के बाद पूरे स्तन के रेडिएशन के बदले सिर्फ एक हिस्से का रेडिएशन करने वाली थेरेपी का लाभ उठाने वालों की संख्या 2001 से 2006 के बीच 10 गुनी बढ़ गई है. हालांकि इस उपचार विधि के गोल्ड स्टैंडर्ड ट्रायल के नतीजे अभी तक नहीं उपलब्ध हैं, इसके उपयोग में आई तेजी के साथ दो घटनाएं जुड़ी हुई हैं. 2002 में रेडिएशन करने वाले उपकरण को अनुमति और 2004 में मेडिकेयर का भुगतान.

रेडिएशन उपचार विशेषज्ञ डा. डेविड शेर का कहना है, यह अध्ययन दिखाता है कि सबूतों के अभाव के बावजूद उपचार किया जा रहा है. डा. शेर नए स्टडी के साथ नहीं जुड़े हुए हैं. अमेरिका के राष्ट्रीय कैंसर इंस्टीच्यूट का कहना है कि 2010 में 2 लाख अमेरिकी महिलाएं स्तन कैंसर का शिकार होंगी और उनमें से हर पांचवें की इस बीमारी से मौत हो जाएगी.

स्तन कैंसर के उपचार के लिए लुम्पेक्टोमी के बाद 40 फीसदी महिला मरीजों में कैंसर फिर से लौट आता है, लेकिन इस संख्या को पूरे स्तन का बाहरी बीम रेडिएशन कर 10 फीसदी तक घटाया जा सकता है. सूजन और लाल होना सामान्य साइड इफेक्ट हैं. पूरे स्तन के रेडिएशन के विपरीत जिसमें कई सप्ताह लगता है, आंशिक स्तन उपचार में सिर्फ एक सप्ताह लगता है. इसका एक उदाहरण मैशाच्यूट की कंपनी होलोजिक द्वारा बेची जा रही मैमोसाइट है जिसे कंपनी के मुताबिक 50 हजार महिलाओं ने इस्तेमाल किया है.

हालांकि आंशिक रेडिएशन का विचार आशाजनक है लेकिन डा. शेर के अनुसार अब तक उपचार की इस विधि पर कोई बड़ी स्टडी नहीं हुई है जिसमें पूरे स्तन वाली विधि से तुलना की गई हो. इस समय एक स्टडी चल रही है.

Brustkrebs Patientinnen Überlebende

अभी जो आंकड़े आए हैं उनके नतीजे जर्नल ऑफ क्लिनिकल ओंकोलॉजी में प्रकाशित किए गए हैं, वे 7,000 बुजुर्ग महिलाओं के डेटा पर आधारित हैं जिंहोंने स्तन से ट्यूमर निकाले जाने के बाद रेडिएशन उपचार कराया था. उन सभी के पास मेडिकेयर के अलावा प्राइवेट चिकित्सा बीमा था. टेक्सास के एमजी एंडरसन कैंसर सेंटर के या चेन शीह और उनके साथियों ने पाया है कि 2001 से 2006 के बीच आंशिक रेडिएशन उपचार कराने वाले मरीजों की संख्या एक फीसदी से बढ़कर 10 फीसदी हो गई. शोधकर्ताओं के अनुसार ऐसा लगता है कि धनी महिलाओं के लिए यह उपचार करना आसान था.

विभिन्न उपचार विधियों के खर्च और प्रभाव की तुलना करने वाले एक पुराने स्टडी में डा. शेर ने पाया था कि मैमोसाइट उपचार पूरे स्तन के रेडिएशन वाले उपचार से सस्ता नहीं था. या चेन शीह के अनुसार पूरे स्तन का रेडिएशन कराने में 13 हजार डॉलर लगता है जबकि छाती की ब्रैकीथेरापी में साढ़े 23 हजार डॉलर लगते हैं. डा. शेर का कहना है कि जब तक नए अध्ययन नहीं हो जाते तब तक महिलाओं को पता होना चाहिए कि उपचार का मानक पूरे स्तन का रेडिएशन है.

रिपोर्ट: रॉयटर्स/महेश झा

संपादन: ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links