1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

लैब से लीक हुआ बैक्टीरिया

एक घातक बैक्टीरिया अमेरिका की हाई सिक्योरिटी लैब से बाहर निकला. दक्षिण पूर्व एशिया और ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला यह बैक्टीरिया मिट्टी और पानी के जरिये फैल सकता है.

अमेरिकी अधिकारी लुसियाना प्रांत की हाई सिक्योरिटी लैब से बैक्टीरिया के लीक होने की जांच कर रहे हैं. बैक्टीरिया टुलेन नेशनल प्राइमेट रिसर्च सेंटर की प्रयोगशाला के बैक्टीरियम से निकला. अमेरिकी अखबार यूएसए टुडे से बातचीत में अधिकारियों ने कहा कि फिलहाल आम लोगों को कोई खतरा नहीं है. लेकिन अधिकारियों ने यह माना कि उन्हें बैक्टीरिया बाहर निकलने से होने वाले खतरे का सही अंदाजा नहीं है.

आम तौर पर उत्तरी ऑस्ट्रेलिया या दक्षिण पूर्व एशिया में पाये जाने वाले इस बैक्टीरिया का नाम बुर्खोल्डेरिया स्युडोमालाई है. यह जमीन और पानी के सहारे इंसानों और जानवरों में फैल सकता है. वैज्ञानिकों ने इसे संभावित बायोटेरर एजेंटों की श्रेणी में रखा है.

शक है कि बैक्टीरिया नवंबर 2014 या उससे कुछ महीने पहले लैब से बाहर निकला. प्रयोगशाला में इस बैक्टीरिया से निपटने के लिए वैक्सीन तैयार की जा रही थी.

अधिकारियों को अब तक प्रयोगशाला के आंगनों में बैक्टीरिया के सुराग नहीं मिले हैं. लेकिन प्रयोग के लिए बैक्टीरियम के बाहर रखे चार बंदर बीमार हो चुके हैं. दो को मारना पड़ा. जांच करने के लिए लैब में गई संघीय इंस्पेक्टर भी बीमार हो चुकी हैं. हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि क्या इंस्पेक्टर बैक्टीरिया की चपेट में हैं.

रिसर्च सेंटर ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है, "फिलहाल किसी इंसान या गैर इंसानी जीव के इससे बीमार होने का कोई मामला सामने नहीं आया है."

यूएसए टुडे के मुताबिक कुछ अधिकारी इस मामले में कड़े कदम उठाए जाने की मांग कर रहे हैं. रुटजेर्स यूनिवर्सिटी के बायोसेफ्टी एक्सपर्ट रिचर्ड एब्राइट कहते हैं, "उन्हें यह भी पता नहीं चल पा रहा है कि ये हुआ कैसे, यह बहुत ही चिंता की बात है."

ओएसजे/आरआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री