1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लिऊ की पत्नी को मीडिया से बात करने से रोका

चीन में सरकार विरोधी झंडा उठाने के कारण जेल में बंद लिऊ चियाओबो को इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार मिलने के बाद उनकी मुसीबतें बढ़ गई हैं. पुलिस ने उनकी पत्नी को मीडिया से बात करने से मना कर दिया है.

default

ओस्लो के नोबेल पीस प्राइज सेंटर से हुआ एलान

पुरस्कार की घोषणा के बाद से ही दुनिया भर के मीडिया की नजरें लिऊ के घर पर टिक गई हैं. लिऊ जेल में बंद हैं इसलिए मीडिया उनकी पत्नी लिऊ चिया से बात करने की पुरजोर कोशिश कर रहा है. लेकिन चीन पुलिस ने लिऊ चिया पर मीडिया से बात करने की पाबंदी लगा दी है.

नॉर्वे के टीवी चैनल एनआरके की ओर से बताया गया कि संवाददाता लिऊ के घर के बाहर जमा हैं लेकिन पुलिस की पाबंदी के कारण उनकी पत्नी मीडिया से बात नहीं कर सकतीं. इस बीच नॉर्वे के मीडिया में यह खबर भी प्रसारित की जा रही है कि चीन में अमेरिकी चैनल सीएनएन का प्रसारण बंद कर दिया है.

पुरस्कार की घोषणा के बाद नोबेल समिति के चेयरमेन थोर्बजोएर्न जगलेंड ने बताया कि लिऊ परिवार से कोई संपर्क न हो पाने कारण अभी तक यह तय नहीं हो पाया है कि उनकी तरफ से कौन पुरस्कार ग्रहण करेगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि चीनी अधिकारी लिऊ को दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुने जाने की सूचना उनके परिवार को देने में मदद देंगे. हालांकि मीडिया में खबर आने के बाद यह बात अब सार्वजनिक हो चुकी है.

जगलेंड ने कहा कि पुरस्कार का चयन करते समय इस बात पर विचार नहीं किया जाता है कि इसे लेने कौन आएगा. उन्होंने कहा कि अभी तक समिति की ओर से लिऊ को उनके चयन की जानकारी नहीं दी जा सकी है क्योंकि उनसे या उनकी पत्नी से संपर्क कायम करने की तमाम कोशिशें नाकाम रहीं. पुरस्कार के संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि 10 दिसंबर को हर साल यह पुरस्कार दिया जाता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links