लाहौर: अमेरिकी ने दो लोगों को गोली मारी | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 27.01.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

लाहौर: अमेरिकी ने दो लोगों को गोली मारी

पाकिस्तान के लाहौर शहर में एक अमेरिकी अधिकारी ने मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों को गोली मार दी जिससे उनकी मौत हो गई. अमेरिका के वाणिज्य दूतावास के कर्मचारी का दावा है कि उसने आत्मरक्षा में गोलियां चलाई.

default

लाहौर पुलिस के प्रमुख असलम तरीन ने न्यूज एजेंसी एएफपी को बताया, "अमेरिकी नागरिक ने हमें बताया कि अपने वाहन से जाते समय वह एक सिग्नल पर रूका. उसने दो मोटरसाइकिल सवारों को देखा जिसमें एक के पास पिस्तौल थी. जान को खतरे में देख उसने भी अपनी पिस्तौल निकाली और उन दोनों पर गोलियां चला दीं." पुलिस के मुताबिक अमेरिकी नागरिक को हिरासत में ले लिया गया है और पूछताछ हो रही है.

असलम तरीन का कहना है कि मोटरसाइकिल सवारों के पास से दो पिस्तौल बरामद हुई हैं. जिस अमेरिकी अधिकारी ने गोलियां चलाई वह स्थानीय वाणिज्य दूतावास में एक सुरक्षा अधिकारी है. अमेरिकी वाणिज्य दूतावास की गाड़ी ने फुटपाथ पर चल रहे एक व्यक्ति को उस स्थान पर कुचल दिया जहां गोलीबारी की यह घटना हुई.

इस व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई. लाहौर में अस्पताल प्रमुख मोहम्मद इजाज ने तीन लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है. "हमारे पास एक मृतक और दो घायल लोग लाए गए. दोनों घायलों की बाद में मौत हो गई."

एक अन्य पुलिस अधिकारी फैसल राणा ने बताया कि हिरासत में अमेरिकी नागरिक ने बताया है कि मोटरसाइकिल पर सवार दोनों व्यक्ति उसकी गाड़ी को रोकने की कोशिश कर रहे थे. इस वजह से उसने आत्मरक्षा में गोली चला दी.

घटना के तुरंत बाद अपने साथियों को सूचित करने के लिए उसने वायरलेस रेडियो का इस्तेमाल किया जिससे वाणिज्य दूतावास की दूसरी गाड़ी उसकी मदद के लिए घटनास्थल पर पहुंची. "घटनास्थल पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए और दोनों गाड़ियों को रोकने की कोशिश की. ड्राइवरों ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया."

मोटरसाइकिल सवारों की हत्या के विरोध में लोगों ने प्रदर्शन किया है और सड़क पर टायर जलाए हैं. लोगों ने उस पुलिस स्टेशन पर जाकर भी अपना विरोध जताया जहां कब्जे में ली गई गाड़ी को रखा गया है. इस्लामाबाद में अमेरिकी दूतावास ने घटना की पुष्टि कर दी है लेकिन अभी ज्यादा जानकारी देने से इनकार किया है. उसका कहना है कि मामले की जांच हो रही है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links