1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लाशों की उंगलियां काटकर रख लीं अमेरिकी सैनिकों ने!

इराक की अबू गरेब जेल में कैदियों के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाली अमेरिकी सेना पर फिर बर्बरता के आरोप लगे. आरोपों के मुताबिक पांच सैनिकों तीन अफगानों हत्या की और फिर उनके अंग काटकर अपने साथ ट्रॉफी तरह ले गए.

default

आरोपों के मुताबिक हत्याएं इसी साल जनवरी, फरवरी और मई में हुईं. सिएटल टाइम्स अखबार ने खबर दी है कि आरोप पत्र बुधवार को जारी किया गया. इसके मुताबिक पांचों आरोपी जवान वॉशिंगटन में स्थित स्ट्राइकर ब्रिगेड के हैं. अगर जवानों पर दोष साबित होता है तो उनका कोर्ट मार्शल होगा और उन्हें मौत की सजा या उम्र कैद भी हो सकती है. इन जवानों पर मादक पदार्थ हशीश का इस्तेमाल करने, न्याय के रास्ते में बाधा बनने और तोप के गोलों को अपने निजी इस्तेमाल के लिए रखने जैसे आरोप भी लगाए गए हैं.

चार्जशीट में कहा गया है कि इन सैनिकों ने एक अफगान व्यक्ति की हत्या की और उसकी लाश के फोटो खींचे. उन्होंने गवाहों को जांचकर्ताओं से दूर रखने के लिए उनकी पिटाई भी की. ये लोग पिछले साल कंधार के आसपास के इलाकों में तैनात रहे. तब वहां भारी लडाई हुई.

Neue Folterfotos aus Abu Graib

अबू गरेब जेल की यातना

आरोपों में कहा गया है कि स्टाफ सार्जेंट गिब्स ने कत्ल किए गए लोगों में से एक व्यक्ति की उंगली, टांग की हड्डी और एक दांत को अपने पास रख लिया. उसने ये सारी चीजें एक अन्य सैनिक को दिखाईं और धमकी दी कि अगर उसने यह बात सीनियर अफसरों को बताई तो उसे जान से मार देगा.

हालांकि सार्जेंट गिब्स के वकील फिलिप स्टैकहाउस ने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि गिब्स के मुताबिक उन्होंने लड़ाई के दौरान ही गोलियां चलाईं और हत्याएं किसी तरह की साजिश का हिस्सा नहीं हैं. अमेरिकी मीडिया के मुताबिक इन जवानों पर लगाए गए आरोप एक अन्य सैनिक कॉर्पोरल मोर्लोक के बयानों पर आधारित हैं. लेकिन कॉर्पोरल मोर्लोक के वकील ने सिएटल टाइम्स अखबार को बताया कि उनका मुवक्किल बयान देते वक्त दवाओं के असर में था.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री