1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लाइन बनाने की कला खो रहा है ब्रिटेन

जिस देश को लाइन बनाने की कला के लिए जाना जाता है वह अब लाइन में खड़े होने का धीरज खो रहा है. एक सर्वेक्षण कहता है कि अब किसी लाइन में खड़े ब्रिटेन के लोग औसतन 10 मिनट और 42 सेकंड में ही अपना धीरज खो बैठते हैं.

default

लाइन लगाने से परेशान

लाइन में खड़े होने में सबसे ज्यादा परेशानी जिन जगहों पर हो रही है उनमें सुपरमार्केट सबसे ऊपर हैं. डाक घर और एयरपोर्ट की सुरक्षा जांच की लाइनें दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं.

लाइन में खड़े होने में ज्यादा परेशानी बुजुर्गों को हो रही है. 55 साल से ऊपर के लोगों का धीरज तो जवानों के मुकाबले 3 मिनट पहले टूट जाता है. लेकिन जो लोग 35 साल से कम के हैं वे लाइन में खड़े होने की खीज अपने आसपास के लोगों पर उतारने में ज्यादा आगे हैं.

सर्वे में लोगों से यह भी पूछा गया कि लाइन में खड़े होने पर उन्हें सबसे बुरा क्या लगता है. लोगों को सबसे ज्यादा नफरत अपने से आगे खड़े लोगों के धीरे धीरे सरकने से है.

इस बढ़ती खीज का ही नतीजा है कि अब ब्रिटेन के ज्यादातर लोग लाइन में खड़ा होना बिल्कुल पसंद नहीं करते. ब्रिटेन में भुगतान की रणनीति बनाने वाली संस्था पेमेंट्स काउंसिल का यह सर्वेक्षण कहता है कि हर 10 में आठ लोग लाइन से बचने के लिए ऑनलाइन बिल भरने में दिलचस्पी ले रहे हैं. काउंसिल की एक प्रवक्ता के मुताबिक, "हमारा सर्वेक्षण कहता है कि अब लोग इस बात को लेकर ज्यादा जागरुक हो रहे हैं कि आप लाइन से बचने के तरीके आजमा कर वक्त और पैसा दोनों बचा सकते हैं. इन तरीकों में ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन बैंकिंग और इलेक्ट्रॉनिक बिल पेमेंट वगैरह शामिल हैं."

इस सर्वेक्षण में 2,006 लोगों से ऑनलाइन सवाल जवाब किए गए. 20 फीसदी लोगों ने कहा कि वे खरीददारी रात को करते हैं ताकि लाइन में न खड़ा होना पड़े.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links