1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ललित मोदी से पूछताछ करेगा आयकर विभाग

इनकम टैक्स विभाग का कहना है कि आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी से पूछताछ हो सकती है. आयकर अधिकारियों का कहना है कि आईपीएल में खिलाड़ियों की नीलामी की प्रक्रिया को लेकर मोदी और नई टीम के मालिकों से पूछताछ की संभावना बन रही है.

default

मुंबई में आयकर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ''हम पूछताछ के लिए कमिश्नर को बुला सकते हैं. वह आईपीएल के सारे वित्तीय मामलों से जुड़े हुए हैं.'' अधिकारी ललित मोदी और बीसीसीआई के दफ़्तर की क़रीब सात घंटे तक तलाशी भी ले चुके हैं.

लेकिन ललित मोदी का दावा कुछ और है. तलाशी अभियान के बाद शुक्रवार सुबह ललित मोदी ने दावा किया कि इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने आईपीएल के दस्तावेज़ों को क्लीन चिट दी है. मोदी के मुताबिक उनसे 15-20 मिनट पूछताछ हुई और अधिकारी 'संतुष्ट' होकर लौटे. आईपीएल कमिश्नर ने कहा, ''उन्हें नीलामी की प्रक्रिया पता नहीं थी, उन्होंने मुझसे उसके बारे में पूछा, बोली लगाने वालों के नाम पूछे, दस्तावेज़ मांगे. सफल बोली लगाने वाले के दस्तावेज़ मांगे. हमनें उन्हें सब दिया.''

Buchautor Shashi Tharoor

मोदी बनाम थरूर

लेकिन मोदी के इस बयान को दोपहर बाद ही आयकर विभाग के अधिकारियों ने ख़ारिज़ कर दिया और कहा कि आने वाले दिनों में उनसे और टीम मालिकों से पूछताछ हो सकती है. ज़ाहिर है इनकम टैक्स विभाग के इस रुख़ से मोदी के दावे पर संदेह होता दिख रहा है. इस बात जांच होनी बाक़ी है कि नई टीमें ख़रीदने वाले आख़िरकार इतनी बड़ी रक़म लाए कहां से. सूत्रों का कहना है कि आईपीएल को इनकम टैक्स विभाग ने पहले भी नोटिस दिया था, जिसकी अनदेखी की गई.

मामले की जांच के लिए इनकम टैक्स विभाग ने मुंबई में एक विशेष शाखा भी बनाई है. आईपीएल टीमों के मालिकों के टीडीएस यानी टैक्स डिडक्शन एट द सोर्स की भी जांच हो सकती है. टीडीएस के तहत पहले ही आय बताकर उस पर टैक्स दे दिए जाता है, लेकिन अब इस पर भी शक जताया जा रहा है.

दरअसल आईपीएल की नई कोच्चि टीम को लेकर अब मामला राजनीतिक हो चुका है. भारत के विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर पर आरोप लग रहे हैं कि कोच्चि टीम में उनकी हिस्सेदारी है. कोच्चि टीम में थरूर की एक महिला मित्र सुनंदा पुष्कर ने भारी निवेश किया है. अक्सर विवादों में रहने वाले थरूर के लिए यह नया संकट है. बीजेपी ने प्रधानमंत्री से मामले में सफ़ाई देने के लिए कहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री