1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ललित मोदी का बीसीसीआई पर पलटवार

निलंबन के बाद ललित मोदी ने किया बीसीसीआई पर पलटवार. सोशल नेटवर्किंग साइट पर कहा, ''मैं अब भी आईपीएल का अध्यक्ष हूं, लेकिन निलंबित.'' मोदी के मुताबिक बोर्ड की कार्रवाई के बाद अब बारी उनकी है.

default

पांच आरोप तय

सोमवार सुबह बीसीसीआई के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने कहा कि आईपीएल के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी के ख़िलाफ़ पांच आरोप तय किए गए हैं. इनमें राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की संदिग्ध नीलामी प्रक्रिया, प्रसारण अधिकार सोनी को देने की संदिग्ध डील और दो नई फ्रैंचाइजीस का विवाद है. बोर्ड ने मोदी के व्यवहार को लेकर भी एक आरोप तय किया है.

लेकिन शाम होते होते ललित मोदी का बयान भी आया. उसी सोशल नेटवर्किंग साइट पर जिसके ज़रिए मोदी ने कोच्चि फ्रैंचाइजी का ब्यौरा दिया था. ट्विटर पर अपने छोटे से संदेश में मोदी ने लिखा, ''आप सभी के संदेशों और सहारे के लिए शुक्रिया. मैं वाकई इसकी तारीफ़ करता हूं. मैं अब भी आईपीएल का अध्यक्ष हूं. बस निलंबित हूं. हमारी तो शुरुआत ही अभी हुई है.''

यह बात नई नहीं है कि मोदी के पास कई अहम जानकारियां हैं. बीसीसीआई के अधिकारियों को वह चेतावनी भी देते रहे हैं कि अफसरों की गोपनीय बातों का ख़ुलासा कर देंगे.

बरहहाल मोदी की चेतावनियों से दूर बोर्ड प्रमुख शशांक मनोहर ने यह भी कहा कि, '' मोदी के ख़िलाफ़ चार्जशीट पर चर्चा हो चुकी है, एक समिति बना दी गई है और चिरायु अमीन को अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. बीसीसीआई के सीएओ रत्नाकर शेट्टी सभी रिकॉर्ड देखेंगे.''

हफ़्ते भर तक कड़े संग्राम के बाद ललित मोदी और बोर्ड दोनों के तैवर अब कुछ नरम पड़े हैं. बीसीसीआई का कहना है कि अगर मोदी अपने ख़िलाफ़ लगे आरोपों को झूठा साबित करने के लिए ठोस सबूत लाएं तो उन पर लगे आरोप हटा लिए जाएंगे.

मनोहर ने कहा, ''आरोपों की जांच करना बोर्ड का काम है. साफ जांच के लिए यह ज़रूरी हो जाता है कि जिस आदमी पर यह आरोप उसे निलंबित किया जाए. यह कोई सज़ा नहीं है. उस व्यक्ति सिर्फ़ इसलिए बाहर किया गया है ताकि निष्पक्ष जांच हो सके.''

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री