1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

लता का पहला सूफी गीत

स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने अपने करियर में पहली बार सूफी अंदाज में गीत गाया. उन्होंने अपने भतीजे बैजू के पहले म्यूजिक एलबम के सूफी गीत को अपनी आवाज दी है.

बैजू की यह अलबम हाल ही में लांच हुई. चर्चा है कि यह एलबम बैजू ने अपने दादाजी दीनानाथ मंगेशकर की याद में निकाला है. एलबम लॉन्च के मौके पर लता मंगेशकर ने कहा, "मैं जानती हूं बैजू बहुत अच्छा गाते हैं और संगीत भी बनाते हैं लेकिन उन्होंने हमेशा ही मेरी छोटी बहन मीना के लिए गाने गाए हैं." लता मंगेशकर के अनुसार उनकी बहन मीना ने ही बैजू से सूफी अलबम निकालने की बात कही थी.

बैजू अपना पसंदीदा गायक गुलाम अली को बताते हैं. उन्होंने बताया कि जब उन्होंने ये गाने लता मंगेशकर को सुनाए तो उन्हें गाने पसंद आए और उन्होंने दो गानों के लिए हामी भर दी.

लता की पसंद राजकपूर

अपने पसंदीदा निर्देशकों में लता मंगेशकर राज कपूर का नाम लेती हैं. उनके मुताबिक राज कपूर कमाल के संगीतज्ञ थे और उनको संगीत की अच्छी समझ थी. लता मंगेशकर ने हाल ही में अपने पिता दीनानाथ मंगेशकर की पुण्यतिथि के अवसर पर राजकपूर के पुत्र और अभिनेता ऋषि कपूर को भारतीय फिल्मों में उनकी बेहतरीन अदायगी के लिए सम्मानित किया. लता मंगेशकर ने कहा, "मेरे मन में ऋषि जी के लिए हमेशा से सम्मान रहा है. यह मेरे लिये खुशी की बात है कि ऋषि कपूर अपने परिवार सहित कार्यक्रम में शरीक हुए." लता मंगेशकर ने कहा कि यह संयोग की बात है कि उनका और ऋषि के पुत्र रणबीर कपूर का जन्मदिन 28 सितंबर को आता है. खुद राज कपूर भी लता मंगेशकर की गायकी के कायल थे. उन्होंने लता मंगेश्कर को संगीत की देवी का दर्जा दिया था.

एसएफ/एएम (वार्ता)