1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

लगातार बढ़िया प्रदर्शन वर्ल्ड कप के लिए जरूरी: सचिन

अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप क्रिकेट में भारत की खिताबी जीत मास्टर ब्लास्टर के लिए एक सपना है जिसे वह पूरे होते देखना चाहते हैं. तेंदुलकर मानते हैं कि शानदार प्रदर्शन को बरकरार रखना ही सफलता की चाबी साबित होगी.

default

सचिन तेंदुलकर मानते हैं कि भारतीय टीम बढ़िया प्रदर्शन कर रही है और यह बेहद जरूरी है कि अगले साल वर्ल्ड कप तक इस प्रदर्शन को बनाए रखा जाए. "मुझे लगता है कि यह देखना अहम होगा कि टूर्नामेंट से पहले हमारी तैयारी किस तरह की होती है. यह भी अहम है कि वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले हम पूरी तरह फिट रहें ताकि टूर्नामेंट शुरू होते ही टीम इंडिया जीत के लिए पूरे जोश से मैदान में उतरे."

Sachin Tendulkar

तेंदुलकर के मुताबिक वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में किसी टीम की प्रतिष्ठा खास मायने नहीं रखती और वही टीम जीतती है जो मैच के दिन बढ़िया खेलती है. "यह कहना मुश्किल है कि अगले साल वर्ल्ड कप में कौन सी टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी. यह तो इस बात पर निर्भर करेगा कि किसी खास दिन कौन सी टीम बेहतर प्रदर्शन करती है."

तेंदुलकर की राय में शुरुआती मैचों में जीत और अच्छा प्रदर्शन काम आएगा क्योंकि इससे मिलने वाले आत्मविश्वास का फायदा टीम को अगले मैचों में होगा. वर्ल्ड कप तो अपने आप में बिलकुल अलग टूर्नामेंट है. तेंदुलकर ने पहला वर्ल्ड कप 1992 में खेला और अब तक वह पांच वर्ल्ड कप में खेल चुके हैं लेकिन उनको इस बात की निराशा है कि वह भारत को वर्ल्ड कप नहीं जीता पाए हैं.

37 साल के तेंदुलकर पिछले 20 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं और लंबे समय तक उन्होंने भारतीय बल्लेबाजी का भार अपने कंधों पर ढोया है. अब भारत को युवा बल्लेबाजों की खेप मिली है जिससे टीम के पास बेहतर विकल्प मौजूद हैं.

माना जाता है कि 2011 के वर्ल्ड कप के बाद सचिन तेंदुलकर क्रिकेट को अलविदा कह देंगे और वर्ल्ड कप में जीत क्रिकेट से विदाई का बेहतरीन मौका होगा. 2011 के वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश संयुक्त रूप से कर रहे हैं और यह फरवरी में शुरू होगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा एम