1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लखवी फिर गिरफ्तार

पाकिस्तान पुलिस ने मुंबई आतंकी हमले के मुख्य आरोपी जकी उर रहमान लखवी को फिर से गिरफ्तार कर लिया है. सोमवार को एक अदालत ने उसे रिहा करने के आदेश दिए थे, जिसका भारत ने कड़ा विरोध किया था.

लखवी उन सात आरोपियों में शामिल है, जिन पर पाकिस्तान की अदालत में मुंबई आतंकी हमले के सिलसिले में मुकदमा चलाया जा रहा है. 10 प्रशिक्षित जिहादियों द्वारा किए गए इस हमले में 166 लोग मारे गए थे. इस हमले ने भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को गंभीर रूप से प्रभावित किया. भारत की विदेश सचिव सुजाता सिंह ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब कर पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा प्रभावी कार्रवाई की कमी की शिकायत की.

आतंकवाद से संबंधित एक अदालत ने 18 दिसंबर को सबूतों के अभाव में लखवी को जमानत पर रिहा कर दिया था. भारत और अमेरिका के भारी विरोध के बाद पाकिस्तान पुलिस ने लखवी को फिर से गिरफ्तार कर लिया है. सोमवार को उच्च अदालत ने लखवी की गिरफ्तारी को गैरकानूनी करार दिया. उसके बाद लखवी को मंगलवार को रिहा किए जाने की उम्मीद की जा रही थी. लेकिन वकील रिजवान अब्बासी ने बताया कि अब लखवी को एक और मामले के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है.

कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच लखवी इस्लामाबाद में कोर्ट में हाजिर हुआ. उसने रिपोर्टरों को बताया कि वह खुदा के फैसले को स्वीकार करेगा. पुलिस इंसपेक्टर मुहम्मद अरशद ने अदालत को बताया कि किसी ने शिकायत दर्ज कराई है कि लखवी ने उसके भाई को जिहाद लड़ने के लिए साढ़े छह साल पहले अगवा कर लिया था. जज ने मामले की जांच के लिए पुलिस की समय की मांग मान ली और लखवी की हिरासत दो दिनों के लिए बढ़ा दिया.

पेशावर में स्कूली बच्चों के नरसंहार की घटना के तुरंत बाद हुए इस मामले से पाकिस्तान की अच्छी खासी किरकिरी हो रही है. सोशल मीडिया पर लखवी की गिरफ्तारी पर बहस छिड़ी है.

DW.COM

संबंधित सामग्री