1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लंदन में नई गिरफ्तारियां

ब्रिटिश पुलिस ने दो और लोगों को सैनिक की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है. लंदन के वूलविच इलाके में दो आदमियों ने एक सैनिक की हत्या कर दी थी.

पुलिस ने लंदन के कई घरों में छापे मारे. अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने 29 साल के एक आदमी और औरत को पकड़ा है. उन पर हत्या का षडयंत्र रचने के आरोप हैं.

बुधवार दिन दहाड़े वूलविच के बाजार में 25 साल के ली रिगबी की लंदन आर्मी बैरेक के बाहर धारदार औजारों से हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी के दौरान घायल हुए दोनों हमलावरों को अलग अलग अस्पताल में भर्ती किया गया है. 

28 और 22 की उम्र वाले दो हमलावर नाइजीरियाई मूल के ब्रिटिश नागरिक हैं. दोनों ही स्थिर हालत में है और उनकी चोटें गंभीर नहीं हैं. इनमें से 28 साल के संदिग्ध का नाम माइकल अदेबोलाजो बताया गया है. ब्रिटेन में पैदा हुए माइकल ने कट्टरपंथी इस्लाम स्वीकार किया. वहीं 22 साल के हमलावर का नाम माइकल अदेबोवाले है. दोनों संदिग्ध लंदन के हैं.

25 साल के जिस सैनिक की हत्या की गई वह फुसिलियर्स रॉयल रेजिमेंट में थे और पहले अफगानिस्तान में तैनात थे. इस सिलसिले में पुलिस ने लंदन में पांच घरों  और पूर्वी इंग्लैंड के एक गांव में एक घर की तलाशी ली. पुलिस ने बताया, "यह बड़ी, तेजी से की जा रही जटिल जांच हैं जिसमें अभी और नए तथ्य सामने आएंगे. जासूस कई दिशाओं में जांच कर रहे हैं. और जांच अच्छे से आगे बढ़ रही है." जांच अधिकारी फिलहाल मौके पर मौजूद लोगों के बयानों, सोशल मीडिया और सिक्यूरिटी कैमरा फुटेज की जांच कर रहे हैं.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उधर लंदन में सार्वजनिक सुरक्षा के लिए 1200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

ब्रिटेन की मुस्लिम परिषद ने इस हत्या को बर्बरतापूर्ण कार्रवाई बताते हुए कहा कि इसका कोई इस्लामिक आधार नहीं है.

एएम/एनआर (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM