1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

लंदन की टैक्सी सबसे आगे

लंदन की टैक्सियों को दुनिया में बेहतरीन माना गया है. एक सालाना सर्वे के मुताबिक लंदन के टैक्सी ड्राइवर बेहद दोस्ताना होते हैं और उन्हें बखूबी पता होता है कि वे कहां जा रहे हैं. रोम के टैक्सी वाले सबसे खराब.

default

बेहतरीन लंदन की टैक्सी

यह सर्वे होटेल डॉट कॉम नाम की एक वेबसाइट ने कराया है जिसमें सबसे महंगी होने के बावजूद लंदन की टैक्सियों को पहले पायदान पर रखा गया है. वैसे लंदन के टैक्सी वाले पिछले तीन साल से नंबर वन पर कायम हैं. उन्हें अलग अलग श्रेणियों में 59 प्रतिशत वोट मिले हैं. यात्रियों का कहना है कि लंदन के टैक्सी वाले दोस्ताना व्यवहार करते हैं और उन्हें शहर की बहुत अच्छी जानकारी होती है. वैसे लंदन में किसी ड्राइवर को टैक्सी लाइसेंस हासिल करने के लिए द नॉलेज नाम का टेस्ट पास करना होता है.

न्यूयॉर्क की टैक्सियां इस सर्वे में दूसरे नंबर पर आई हैं. उन्हें 27 फीसदी लोगों ने सबसे बढ़िया बताया. मुसाफिरों का कहना है कि न्यूयॉर्क में टैक्सी सबसे ज्यादा उपलब्ध रहती हैं. वहीं रोम के टैक्सी वाले दुनिया में सबसे खराब बताए गए हैं. जब भी ड्राइविंग क्वॉलिटी की बात आती है तो दस में एक यात्री का मानना है कि इटली की राजधानी में सबसे खराब टैक्सी ड्राइवर हैं. होटेल डॉट कॉम के प्रवक्ता ने कहा, "किसी भी नए शहर में जब कोई पहली बार जाता है

Taxi Berlin Deutschland Flash-Galerie

बर्लिन की टैक्सी भी टॉप फाइव में शामिल

तो उसका पहला अनुभव टैक्सी का सफर ही होता है. हमारी रिसर्च में पता चला है कि एयरपोर्ट से होटल जाने के लिए ज्यादातर लोग टैक्सी का ही इस्तेमाल करते हैं."

दुनिया भर में कराए गए इस सर्वे में सफाई, कीमत, ड्राइविंग क्वॉलिटी, इलाके की जानकारी, दोस्ताना व्यवहार, सुरक्षा और उपलब्धता जैसी कसौटियों पर टैक्सी वालों को परखा गया. टॉप फाइव में 26 प्रतिशत वोटों के साथ टोकियो, 17 प्रतिशत वोटों के साथ बर्लिन और 14 प्रतिशत वोटों के साथ अपनी टुक टुक टैक्सी वाले बैंकॉक को भी जगह दी गई है. इस सर्वे में मैड्रिड के टैक्सी वाले छठे स्थान पर आए हैं. इसके बाद 11 प्रतिशत वोटों के साथ कोपेनहेगन और डबलिन का नंबर आता है. वहीं फ्रैंकफर्ट और पैरिस को दस प्रतिशत वोट मिले हैं.

सिडनी के टैक्सी वालों को दस प्रतिशत से कम वोट मिले हैं. खासकर वैल्यू फॉर मनी और इलाके की जानकारी के मामले में वे पिछड़ गए. यह सर्वे 11 से लेकर 28 मई तक 1900 यात्रियों के बीच कराया गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links