1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

लंदन ओलंपिक के लिए आर्सेलर मित्तल का तोहफ़ा

2012 में होने वाले लंदन ओलंपिक खेलों के लिए स्टील व्यवसायी और दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शामिल एलएन मित्तल तोहफ़ा देंगे. ओलंपिक पार्क में 115 मीटर ऊंचा एक ख़ास घुमावदार टॉवर बनाया जाएगा जिसके लिए पैसा मित्तल देंगे.

default

कुछ ऐसा होगा लंदन का यह टावर

सिटी हॉल में इस टॉवर के डिज़ाइन का उद्घाटन करते हुए लंदन के मेयर बोरिस जॉनसन ने बताया कि यह ख़ास टॉवर न्यू यॉर्क के स्टेच्यू ऑफ़ लिबर्टी से भी बड़ा होगा और अगले साल के आख़िर तक बन कर तैयार हो जाएगा. इस टॉवर को आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट नाम दिया गया है और इसकी क़ीमत 190 लाख पाउंड बताई जा रही है जिसमें से 160 लाख पाउंड की मदद लक्ष्मी निवास मित्तल देंगे. बाक़ी धन की व्यवस्था लंदन डेवलेपमेंट एजेंसी करेगी.आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट का

Indien Deutschland Verkauf von Escada Lakshmi Mittal

मित्तल ने दिया तोहफा

डिज़ाइन मशहूर भारतीय डिज़ाइनर अनीश कपूर ने तैयार किया है और माना जा रहा है कि यह लंदन की पहचान में शामिल हो जाएगा.

आर्सेलर मित्तल के सीईओ एलएन मित्तल ने बताया कि ओलंपिक खेलों की दुनिया में अपनी पहचान है और ऐसे आयोजन बेहद कम होते हैं. वह कहते हैं, "आर्सेलर मित्तल के ऐसे किसी प्रोजेक्ट में शामिल होने के विचार में मैंने तुरंत दिलचस्पी दिखाई क्योंकि हमारा व्यापार 60 से ज़्यादा देशों में फैला है. ओलंपिक खेल वैश्विक स्तर पर होते हैं और हमारी कंपनी का ऑपरेशन भी विश्व स्तर पर है."

मित्तल ने मीडिया को बताया कि लंदन के मेयर बोरिस जॉनसन से एक मुलाक़ात के बाद आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट से जुड़ने के लिए वह तैयार हो गए थे.

इस टॉवर के निर्माण में क़रीब डेढ़ हज़ार टन स्टील का इस्तेमाल होने का अनुमान है और यह लाल रंग का होगा. इसे घुमावदार रूप दिया गया है और ऊपर एक प्लेटफ़ॉर्म होगा जहां रेस्टॉरेंट की सुविधा होगी. 115 मीटर की ऊंचाई वाला यह टॉवर न्यू यॉर्क के स्टेच्यू ऑफ़ लिबर्टी से 22 मीटर ऊंचा होगा और

BdT: London ist Austragungsort für die Olympischen Sommerspiele 2012

अगले ओलंपिक लंदन में

इससे ओलंपिक पार्क और लंदन की ऊंची इमारतों का विहंगम नज़ारा दिखाई देगा. इस टॉवर को देखने आने वाले पर्यटक लिफ़्ट के ज़रिए ऊपर जा सकेंगे और घुमावदार सीढ़ियों पर चलते हुए नीचे आने की सुविधा भी इसमें दी जाएगी.

एलएन मित्तल का कहना है कि भारतीय डिज़ाइनर अनीश कपूर की टीम ने बेहतरीन मॉडल तैयार किया है और 2012 ओलंपिक खेलों की विरासत के रूप में इसे याद किया जाएगा. उनके मुताबिक, "मैं इस महान शहर में रहता हूं और ओलंपिक खेलों की मेज़बानी जब लंदन को मिली थी तो मुझे बेहद ख़ुशी हुई थी. हम इस टॉवर को लंदन की पहचान बनाना चाहते हैं. एक ऐसा ऐतिहासिक स्थल जिसे ओलंपिक खेलों के बाद भी याद रखा जाए."

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री