1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

रोमांचक मैच में भारत की जीत

इधर उधर डोलते करीबी मुकाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 2 विकेट से हरा कर पांच मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 की बढ़त ले ली है. इस जीत में पुछल्ले बल्लेबाजों ने अहम योगदान निभाया. लेकिन कमाल किया यूसुफ पठान ने.

default

भारत को जीत के लिए 222 रन का लक्ष्य मिला था. इस छोटे स्कोर के सामने भारत के बड़े बल्लेबाज कम पड़ गए. और आखिर तक पहुंचते पहुंचते मैच फंस गया. लेकिन यूसुफ पठान की 58 रन की धमाकेदार पारी से बनी नींव पर हरभजन सिंह, जहीर खान और आशीष नेहरा ने जीत की इमारत खड़ी कर दी.

इस मैच में भी दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों पर हावी रहे. भारत का पहला विकेट तीसरे ही ओवर में गिर गया. मुरली विजय आठ गेंदों पर एक ही रन बना पाए और स्टेन ने उनका शिकार कर लिया. उसके बाद विराट कोहली और रोहित शर्मा ने 52 रन की साझेदारी करके झटके को संभाला. 56 के स्कोर पर कोहली के रूप में भारत का दूसरा विकेट गिरा. कोहली ने 28 रन बनाए लेकिन इसके लिए उन्होंने 41 गेंद खर्च कीं. रोहित शर्मा ने 45 गेंदों पर 23 रन बनाए.

युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी कुछ ज्यादा नहीं कर पाए. युवी 16 और धोनी 5 के निजी स्कोर पर आउट हुए.100 से पहले भारत के पांच विकेट गिर चुके थे. यहां से पठान और रैना की जोड़ी जमी और जीत के लिए नींव तैयार करने लगी. मोर्केल की गेंद पर डि विलियर्स के हाथों कैच आउट होने से पहले रैना ने 47 गेंदों 37 अहम रन बनाए. वह आउट हुए तो भारत का स्कोर 168 रन था और पठान बेहतरीन खेल रहे थे. इसलिए भारत की जीत ज्यादा दूर नजर नहीं आ रही थी. लेकिन 40वें ओवर में 182 के स्कोर पर पठान को स्टेन ने चलता कर दिया. उन्होंने 50 गेंदों पर 59 रन बनाए.

पठान के आउट होने के बाद जीत दूर खिसकने लगी. जहीर खान और हरभजन सिंह बहुत धीमे धीमे जीत की ओर सरक रहे थे. हर गुजरती गेंद के साथ ऐसा लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजी के सामने पुछल्ले बल्लेबाज टिक नहीं पाएंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. वे टिके रहे. जहीर खान ने दो चौकों की मदद से 14 रन बना दिए. हरभजन सिंह ने भी दो छक्के जमाकर सारा हिसाब बराबर कर दिया. उन्होंने 25 गेंदों पर 23 रन बनाए. और नौवें विकेट के तौर पर आए आशीष नेहरा ने एक चौका मारकर जीत भारत की झोली में डाल दी.

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका की पारी भी डावांडोल ही रही. 45वें ओवर में जब उनका स्कोर 200 पहुंचा, तब पांच विकेट ही गिरे थे और लग रहा था कि भारत को अच्छा खासा लक्ष्य मिलेगा. लेकिन 20 रन में भारतीय गेंदबाजों ने आखिरी पांचों विकेट निपटाकर टीम को सस्ते में समेट दिया.

अपना पहला मैच खेल रहे एफ डू फ्लेसिस ने सबसे ज्यादा 60 रन बनाए. डुमिनी ने 52 रन बनाए. कप्तान ग्रेम स्मिथ ने 43 रन का योगदान दिया.

भारत के लिए जहीर खान ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए. मुनफ पटेल और हरभजन सिंह ने दो दो खिलाड़ियों को आउट किया.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links