1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

रोन्देवू: ललित मोदी ने रिश्वत की पेशकश की

आईपीएल में कोच्ची फ़्रैंचाइज़ी विवाद ने एक नया मोड़ ले लिया है. रोन्देवू स्पोर्ट्स के मुताबिक़ आईपीएल कमिश्नर ने उसे फ़्रैंचाइज़ी छोड़ने के लिए पांच करोड़ डॉलर की रक़म देने का प्रस्ताव दिया था.

default

रोन्देवू प्रमुख शैलेंद्र गायकवाड ने कहा, "कोच्ची टीम से पीछे हटने के लिए मोदी ने हमें पांच करोड़ डॉलर का ऑफ़र दिया. ललित मोदी ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा, "ये लोग पागल हैं क्या, इन्हें 200 करोड़ रुपए कौन देगा. मैं मामला अदालत तक ले जाऊंगा." मोदी ने कहा है कि वह गायकवाड के बयान को लेकर और जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं जिसके बाद वह गुरुवार तक रोन्देवू को क़ानूनी नोटिस भेज देंगे.

कोच्ची के मालिकों पर प्रश्नचिह्न को लेकर गायकवाड का कहना है कि उन्होंने सही तरीके से इस टीम के लिए बोली लगाई और जीत गए. लेकिन 10 दिनों बाद ही मोदी ने उनसे कोच्ची की फ़्रैंचाइज़ी वापस लेने के लिए कहा और पांच करोड़ डॉलर की राशि देने का प्रस्ताव रखा. गायकवाड का यह भी मानना है कि मोदी आईपीएल के आने वाले सीज़न में और बड़ी कंपनियों को साथ लेना चाहते थे और इसलिए वह रोन्देवू पर निशाना साध रहे हैं.

जहां गायकवाड का कहना है कि उनके साथ नाइंसाफी हो रही है, वहीं मोदी का कहना है कि रोन्देवू को वह क्यों रक़म देने की सोचेंगे. वह भी तब जब अच्छी नीलामी लगी है. मोदी ने कहा है कि कोच्ची फ़्रैंचाइज़ी पर भ्रम की स्थिति बनी हुई है और उसके मालिकों के बारे में पूरी जानकारी नहीं है

रोन्देवू ने फ़्री इक्विटी के रूप में थरूर की क़रीबी दोस्त सुनंदा पुष्कर को लगभग 70 करोड़ रूपये की हिस्सेदारी दी है. ललित मोदी ने कोच्ची टीम के हिस्सेदारों के नामों को सार्वजनिक किया है जिससे विवाद खड़ा हो गया है.

रिपोर्टः पीटीआई/ एम गोपालकृष्णन

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री