1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

रोनाल्डो दुनिया के सबसे बड़े फुटबॉलर

ज्यूरिख में जब इस साल के फीफा अवॉर्ड 'बालोन द ऑर' की घोषणा हुई तो क्रिस्टियानो रोनाल्डो अपने आंसू नहीं रोक सके. चार साल बाद एक बार फिर 'बालोन द ऑर' रोनाल्डो के नाम हुआ है.

ब्राजील के महान खिलाड़ी पेले ने जब एक लंबे विराम के बाद मुस्कुराते हुए रोनाल्डो का नाम लिया तो रोनाल्डो ने अपनी आंखें बंद कर लीं. अपनी गर्ल फ्रेंड इरिना के साथ बैठे रोनाल्डो मुस्कुराए और सर झुका लिया. सफेद शर्ट और काला कोट पहने रोनाल्डो अपने तीन साल के बेटे के साथ स्टेज पर पहुंचे और सुनहरी ट्रॉफी हाथ में लेते ही रोने लगे और कहा, "मैं शब्दों में नहीं बता सकता कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं."

फीफा अध्यक्ष सेप ब्लैटर और ब्राजील के पेले से अवॉर्ड लेते हुए उन्होंने कहा, "मैं रियाल मैड्रिड को शुक्रिया कहना चाहता हूं, मैं पुर्तगाल को और अपने परिवार को शुक्रिया कहना चाहता हूं. मेरे लिए यह बहुत सम्मान की बात है." रोनाल्डो के आंसू बता रहे थे कि उनके लिए यह ट्रॉफी कितने मायने रखती है. अवॉर्ड लेते हुए वे सबका आभार व्यक्त करना नहीं भूले, "जो लोग मुझे जानते हैं उन्हें पता है कि इसमें कितने लोगों ने मेरी मदद की है. अगर मैं किसी को शुक्रिया कहना भूल रहा हूं तो मैं दिल से माफी चाहता हूं क्योंकि इस वक्त मैं काफी भावुक हूं."

मेसी को पछाड़ा

इस से पहले रोनाल्डो को 2008 में भी यह अवॉर्ड मिल चुका है. उस समय चैंपियंस लीग में मैनचेस्टर यूनाइटेड की जीत का सेहरा उन्हीं के सिर बंधा था. लेकिन पिछले चार साल से लगातार बार्सिलोना के लिए खेलने वाले अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी का नाम इस अवॉर्ड के साथ जुड़ा हुआ था. इस बार वे दूसरे स्थान पर रहे. रोनाल्डो को कुल 27.99 और मेसी को 24.72 प्रतिशत वोट मिले. तीसरे स्थान पर रहे बायर्न म्यूनिख के फ्रांसीसी खिलाड़ी फ्रांक रिबेरी. उन्हें 23.99 फीसदी वोट मिले.

Preisverleihung Weltfußballer 2013 Cristiano Ronaldo

आंसू रोक नहीं पाए रोनाल्डो

रियाल मैड्रिड के अध्यक्ष फॉरेंटीनो पेरेज भी इस मौके पर मौजूद थे. उन्होंने कहा, "आखिरकार न्याय हुआ क्योंकि रोनाल्डो दुनिया का सबसे अच्छा खिलाड़ी है. हमारे लिए यह फख्र की बात है कि वह हमारी टीम में है." रोनाल्डो ने बीते साल कुल 69 गोल किए हैं. अवॉर्ड से पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में वे अपनी भावनाएं दिखाने से बचते रहे, "अगर मैं जीतता हूं तो अच्छी बात है और अगर नहीं, तो भी जिंदगी चलती रहेगी."

मैड्रिड में जश्न

अक्टूबर में फीफा अध्यक्ष सेप ब्लैटर ने इस ओर इशारा किया था कि इस साल भी मेसी ही जीतेंगे. इस पर रोनाल्डो के साथ उनकी अनबन भी हुई. लेकिन रोनाल्डो का कहना है कि वह फोन पर बात कर के इस मामले को अब सुलझा चुके हैं.

स्पेन में मीडिया की मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. मैड्रिड में रोनाल्डो की जीत का जश्न है तो बार्सिलोना इस बात से निराश है कि इस बार मेसी पीछे छूट गए. रेडियो मार्का ने रोनाल्डो के बारे में कहा, "इस साल तो पूरी तरह उन्हीं का हक था. साथ ही चोटों के कारण मेसी के लिए यह एक बुरा साल रहा है."

मैड्रिड और पुर्तगाल में रोनाल्डो इतने लोकप्रिय हैं कि उनके खोले एक निजी म्यूजियम को देखने के लिए हर रोज सैकड़ों लोग आते हैं. अब इस अवॉर्ड के बाद वहां आने वाली भीड़ के और बढ़ जाने की उम्मीद है.

आईबी/एमजे (डीपीए, आईपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री