रैंप पर वीडियो इफेक्ट वाले कपड़े | मंथन | DW | 26.11.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

रैंप पर वीडियो इफेक्ट वाले कपड़े

माइकल जैक्सन की लाइट वाली ड्रेस हो या फिर लेजर बीम फेंकता माइक, चकाचौंध से जुड़ी हस्तियां खुद को दूसरों से अलग दिखाना चाहती हैं. सितारों की ऐसी चाहत को जर्मनी के मोरित्स वाल्डेमायर अपने हुनर से हकीकत में बदलते हैं.

चाहे म्यूजिक कंसर्ट के दौरान स्टेज पर लाइट इफेक्ट्स हों या फिर कलाकारों के कपड़ों में लगे एलईडी, लेजर लाइट वाला माइक्रोफोन स्टैंड या फिर रिहाना के चमकते आउटफिट्स. इन सब के पीछे दिमाग है जर्मन इंजीनियर और डिजाइनर मोरित्स वाल्डेमायर का. वह तकनीक और कला का एक रोमांचक मिश्रण तैयार करते हैं. मोरित्स कहते हैं, "मैं एक तरह से अनुवादक जैसा हूं, जो तकनीकी दुनिया की बातें क्रिएटिव वर्ल्ड तक पहुंचाता है. ऐसा बहुत कम ही देखने को मिलता है. कुछ लोग हैं, जो कला के क्षेत्र से आते हैं और उनकी तकनीक में भी रुचि होती है, लेकिन मैंने तकनीक की पढ़ाई की है और उसी पर मेरा काम आधारित है."

बैटरी से चलने वाले कपड़े

मोरित्स वाल्डेमायर ने 2007 में एक अनोखा कंसेप्ट पेश किया. ग्रीस के फैशन डिजाइनर हुसैन चलायन के साथ मिल कर उन्होंने बैटरी से चलने वाले कपड़े तैयार किए. रैंप पर ये कपड़े खुलते बंद होते हैं, आकार बदलते हैं और साथ ही रोशनी भी बिखेरते हैं.

असल में उन्होंने ड्रेस में कई तारें लगाईं. मोरित्स बताते हैं, "ऐसा दुनिया में पहली बार देखने को मिला कि कोई ड्रेस वीडियो जैसा महसूस कराए. एक तो कम समय में इसे बनाना अपने आप में ही बहुत बड़ा चैलेंज था, फिर यह बहुत पेचीदा काम भी था. कुल मिला कर यह पागल कर देने जैसा था."

स्टेज पर वीडियो ड्रेस

वीडियो ड्रेस बनाने का तरीका इसे जरा हटकर बना देता है. मोरित्स कपड़े के अंदर ही कई तार फिट कर देते हैं और स्टैम्प के आकार की कई चिप इससे सिल देते हैं. घुटनों तक आने वाली महिलाओं की ड्रेस में वीडियो इफेक्ट डालने के लिए करीब 15,000 एलईडी लगते हैं. ये अलग अलग रंग की रोशनी बिखरते हैं. चिप के जरिए कौन सा बल्ब कब जलेगा और कितना तेज जलेगा, इसकी टाइमिंग सेट की जाती है. बारी बारी जलते बुझते बल्ब एक मूवमेंट का अहसास पैदा करते हैं. दूर से देखने पर ये वीडियो जैसा लगता है.

हालांकि ऐसी एक ड्रेस बनाने में मोरित्स को कई दिन और कभी कभार तो महीना भर भी लग जाता है. "यह एक पहेली जैसा है. हमारे पास यहां ढेर सारे छोटे छोटे सर्किट हैं और हर सर्किट वीडियो प्लेयर जैसा है. यानी मुझे इन सबको एक साथ ऑन करना है और फिर ये अपने अपने हिस्से का वीडियो चलाने लगेंगे. क्योंकि ये सब यहां कपड़े की ऊपरी सतह पर लगे हैं, तो ड्रेस में एक पूरी तस्वीर उभर आती है."

Katy Perry iHeartRadio Music Festival 2013

स्टेज पर केटी पैरी

एसएमएस वाला झूमर

मोरित्स ने लंदन से मेकाट्रोनिक्स की पढ़ाई की है, यानी मैकेनिकल और इलेक्ट्रोनिकल इंजीनियरिंग एक साथ. नौ साल पहले उन्होंने डिजाइनर रौन अराद के साथ अपने करियर की शुरुआत की और ऐसा झूमर तैयार किया जो एसएमएस रिसीव कर सकता था. मोरित्स मानते हैं कि असल में यह जूनून है जो उन्हें प्रेरित करता है, "तकनीक के साथ खेलना, कुछ नया कर दिखाना, यह देखना कि ऐसा क्या है जो पहले कभी किसी ने ना किया हो, मुझे यह पसंद है. और इसमें हाथ से काम करना होता है, तो हर प्रोजेक्ट में मैं कुछ नया सीख पाता हूं."

ऐड इंडस्ट्री में भी मोरित्स अपना जलवा दिखा चुके हैं. 2010 में उन्होंने एक जर्मन कार कंपनी के लिए विज्ञापन तैयार किया. मोरित्स की परवरिश भले ही जर्मनी के शहर हाले में हुई हो, लेकिन वह 16 साल से लंदन में रह रहे हैं. कई बड़ी कंपनियों और जाने माने लोगों के साथ काम करने के कारण उनके काम को काफी शोहरत मिली है, "मुझे लगता है कि मैंने अपनी एक अच्छी पहचान बना ली है. लोगों को भी यह मजेदार लगता है क्योंकि यह बाकी डिजाइनरों की चीजों से काफी हट कर है." कहना गलत नहीं होगा कि मोरित्स अपने आइडिया और पेचीदा तकनीक की मदद से कला को एक नया आयाम दे रहे हैं.

रिपोर्ट: सुजाने श्टाइगर, गोना केटेल्स/ओ सिंह

संपादन: ईशा भाटिया

DW.COM