1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

रेस्तराओं की बेइमानी पर नकेल

आप रेस्तरां पहुंचे और आपने पसंदीदा खाने का ऑर्डर दे दिया. इसके बाद रेस्तरां ने पैकेट वाला रेडीमेड खाना गर्म किया और आपको परोस दिया. फ्रांस में इसी धांधली को रोकने के लिए नियम लागू हुआ है.

फ्रांस के रेस्तरांओं के मेन्यू कार्ड में अब एक अलग तरह का निशान दिखाई पड़ेगा. रेस्तरां के खानसामे जो खाना खुद पकाएंगे उसके आगे एक घर जैसा निशान होगा. इसका मतलब होगा कि यह डिश होममेड यानि रेस्तरां में ही तैयार की गई है. जिस डिश के आगे ऐसा निशान न हो, उसका मतलब होगा कि यह पैकेट वाला रेडीमेड खाना है, जो बस गर्म कर प्लेट में सजा दिया गया है.

फ्रांस के रेस्तराओं में इन दिनों ग्राहकों को रेडीमेड खाना परोसने के चलन बहुत बढ़ गया है. कई रेस्तरां सुपरमार्केट से माइक्रोवेव में गर्म करने वाला रेडीमेड खाने का पैकेट खरीदते हैं और ग्राहकों को गर्म कर परोस देते. कई ग्राहक इसे धांधली मानते हैं. उनका तर्क है कि अगर पैकेट वाला रेडीमेड खाना ही खाना है तो फिर रेस्तरां में जाने की क्या जरूरत है. वैसे यह चलन दुनिया के दूसरे देशों में भी बड़ी तेजी से फैल रहा है.

इन-हाउस डिश

फ्रांस की कंज्यूमर अफेयर्स मंत्री कारोल डेल्गा के मुताबिक ग्राहकों को यह जानने का हक है कि उन्हें क्या परोसा जा रहा है. संसद मेन्यू में इन-हाउस डिश वाला निशान बनाने से जुड़ा कानून 17 मार्च को पास कर चुकी है. इस हफ्ते से इसे अमल में लाया जाएगा. रेस्तराओं और केटरिंग कंपनियों को अपने मेन्यू बदलने के लिए एक जनवरी तक का समय दिया गया है.

नए नियम में फ्रीज किए गए प्रोडक्ट्स और कटी या छिली हुई सब्जियों को रियायत दी गई है, यानि इन्हें दूसरी चीजों के साथ पकाया जाए तो खाने को इन-हाउस कहा जा सकता है. हालांकि कटे छिले आलुओं को होम मेड नहीं कहा जाएगा. नियम समझाते हुए डेल्गा कहती हैं, "उदाहरण के लिए फ्रोजन चिप्स इस श्रेणी में नहीं आते हैं. इसका मतलब हुआ फास्ट फूड रेस्तरां उन्हें होम मेड नहीं कह सकते हैं. वो तो सॉसेज जैसे ही रेडीमेड है जिन्हें होममेड नहीं कहा जा सकता है."

खोयी हुई पहचान

वाइन, चीज, ब्रेड और पास्ता फ्रांसीसी खान पान का अहम हिस्सा है, लिहाजा इन चीजों को होममेड वाले कानून से दूर रखा गया है.

फ्रांस के रेस्तराओं और होटलों में काम करने वाले 2,60,000 कर्मचारियों की ट्रेड यूनियन जीएनआई ने नए कानून का स्वागत किया है. एक बयान में जीएनआई ने कहा, "इससे कारोबार को बढ़ाने और ग्राहकों के हितों का ध्यान रखने के बीच संतुलन बनाया जा सकेगा." बीते सालों में फ्रांस में मशहूर रेस्तराओं की भी प्रतिष्ठा गिरी है. उम्मीद है कि होममेड निशान अब खोयी हुई पहचान वापस दिलाएगा और ग्राहकों के साथ भी न्याय करेगा.

ओएसजे/आईबी (एएफपी)

संबंधित सामग्री