1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रूस रोके यूक्रेन में हमले: जॉन केरी

अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने बुधवार को रूसी विदेश मंत्री से युद्धविराम का पालन और पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादियों के हमले रुकवाने की अपील की.

पिछले ही हफ्ते मिंस्क में हुए युद्धविराम के समझौते पर पहली बड़ी चोट तो तभी लग गई, जब उसके बाद पूर्वी यूक्रेन के शहर डेबाल्टसेवे पर रूस समर्थक अलगाववादियों ने हमला बोल दिया. फिर भी अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि अभी भी शांति लाने के समझौते को बचाने की संभावना है. अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने बुधवार की सुबह रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से बात की. अमेरिकी सरकार की प्रवक्ता जेन साकी ने बताया कि केरी ने उन पर दबाव बनाने की कोशिश की है कि वे "डेबाल्टसेवे के यूक्रेनी ठिकानों पर रूसियों और अलगाववादियों के हमलों को रोकें और साथ ही सीजफायर का उल्लंघन करना भी बंद करें."

रेलवे नेटवर्क के लिहाज से बेहद अहम जगह पर स्थित डेबाल्टसेवे शहर दोनों ओर से बागियों के कब्जे वाले शहर डोनेत्स्क और लुगांस से घिरा है. शांति संझौते के बाद से इस शहर से हजारों की संख्या में सरकारी सेनाएं हटाई जा चुकी हैं. अब भी यहां से हिंसा की खबरें आना यूरोपीय मध्यस्थता वाले मिंस्क शांति समझौते को तोड़ता है, जिसका संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद ने भी समर्थन किया है.

अमेरिकी प्रवक्ता साकी ने ताजा बयान में कहा है कि सीजफायर अभी भी लागू है. उन्होंने कहा कि कुछ दूसरे इलाकों में हिंसा के स्तर में कमी आने के प्रमाण मिल रहे हैं. साकी ने कहा, "हमें नहीं लगता कि यह (युद्धविराम) खत्म हो चुका है." उन्होंने आगे बताया, "हमने रिपोर्टें देखी हैं जिनमें अलगाववादियों और यूक्रेनी सरकार दोनों के द्वारा डोनेत्स्क और लुगांस के कई हिस्सों से भारी हथियारों को हटाए जाने की बात थी." लेकिन साकी ने सावधानी बरतते हुए कहा कि जब तक ओएससीई मॉनीटरों को खुद इन इलाकों में जाने की अनुमति नहीं मिलती, अमेरिका इन खबरों की पुष्टि नहीं कर सकता.

वहीं अमेरिकी कांग्रेस में रिपब्लिकन पार्टी के कुछ नेताओं ने अमेरिकी सरकार और दूसरे पश्चिमी देशों के साथ मिलकर इस शांति समझौते से बड़ी उम्मीदें लगाने की निंदा की है. उनका मानना है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन पर दबाव और बढ़ाए जाने चाहिए और यूक्रेनी सेनाओं को जल्द से जल्द खतरनाक हथियार मुहैया कराने चाहिए. सीनेटर जॉन मैक्केन और लिंडसे ग्राहम ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा, "सीजफायर के मिथक को जारी रखने से पुतिन को एक आवरण मिल जाएगा जिसके पीछे छुपकर वे यूक्रेन के भीतर अपने अगले आक्रमणों की योजना बनाते रहेंगे."

आरआर/आईबी (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री