1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

रूस में ही होगा वर्ल्ड कपः फीफा

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रूस को लेकर तनाव के बीच अगले वर्ल्ड कप की मेजबानी किसी और देश को देने की चर्चा गर्म थी. लेकिन फीफा ने साफ कर दिया है कि 2018 का विश्व कप रूस में ही होगा.

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल संघ फीफा पर दबाव बन रहा था कि वह अगले विश्व कप के लिए किसी और देश की मेजबानी पर विचार करे. बहस चल रही थी कि क्या कुछ देशों को रूस के वर्ल्ड कप का बहिष्कार करना चाहिए. इस पर फीफा ने बयान जारी कर कहा, "इतिहास ने बार बार बताया है कि किसी खेल के बहिष्कार की नीति से किसी समस्या का हल नहीं होता है."

आरोप लग रहे हैं कि पिछले हफ्ते यूक्रेन में मलेशिया के जिस विमान को मार गिराया गया, उसमें रूस का हाथ है. हालांकि रूस इस बात से पूरी तरह इनकार करता है. कई जर्मन नेताओं ने तो विकल्प के तौर पर जर्मनी का नाम भी आगे बढ़ा दिया था. उनका कहना था कि विश्व कप विजेता जर्मनी विश्व कप कराने की क्षमता रखता है.

WM 2018 Rußland Vladimir Putin Boykott

दबाव में रूसी राष्ट्रपति

लेकिन इन अटकलों को विराम देते हुए फीफा ने बयान में कहा, "फीफा इस बात से आश्वस्त है कि फुटबॉल के जरिए, खास तौर पर फीफा वर्ल्ड कप से दुनिया में सकारात्मक बदलाव लाया जा सकता है. लेकिन फुटबॉल हर मुद्दे का समाधान नहीं हो सकता है, खास कर अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दों का."

बयान में कहा गया है कि बार बार देखा गया है कि फुटबॉल कुछ अच्छा करने की शक्ति के तौर पर काम आता है और हम रूस के 2018 के वर्ल्ड कप से भी यही उम्मीद करते हैं.

फीफा पर पहले ही 2022 के कतर विश्व कप को लेकर दबाव है. अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल जगत में चर्चा है कि साठ गांठ के जरिए 2022 की मेजबानी कतर को मिली है. इसके अलावा स्टेडियम और दूसरे ढांचागत तैयारियों में कतर के मानवाधिकार रिकॉर्ड पर भी सवाल उठ रहे हैं.

एजेए/ओएसजे (डीपीए)

संबंधित सामग्री