1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रूस भारत को परमाणु रिएक्टर देगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच नई दिल्ली में वार्षिक शिखर बैठक हुई. दोनों देशों ने रक्षा, परमाणु ऊर्जा, हाइड्रोकार्बन एवं व्यापार के क्षेत्रों में अनेक अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए.

शिखर भेंट के दौरान परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर के बाद रूस की सरकारी कंपनी रोसाटोम ने नई दिल्ली में कहा कि रूस भारत को अगले 20 सालों में 12 परमाणु रिएक्टरों की सप्लाई करेगा. पुतिन के साथ बैठक में शामिल होने के लिए 15 सदस्यीय उच्च स्तरीय राजनीतिक एवं वाणिज्यिक शिष्टमंडल भी आया है.

पुतिन के भारत पहुंचने पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी भाषा में ट्वीट कर उनका स्वागत किया, "राष्ट्रपति पुतिन का भारत में स्वागत करते हुए बहुत प्रसन्नता हो रही है. यह यात्रा भारत और रूस के द्विपक्षीय संबधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी. भारत और रूस के लोगों के बीच काफी मजबूत संबंध हैं. दोनों देश अच्छे और मुश्किल समय में हमेशा एक दूसरे के साथ खड़े रहे हैं. समय बदला है लेकिन हमारी मित्रता में कोई बदलाव नहीं आया है. अब हम इस संबंध को अगले स्तर पर ले जाना चाहते हैं और यह यात्रा उस दिशा में एक कदम है."

शिखर भेंट के लिए पुतिन सुबह साढ़े 11 बजे हैदराबाद हाउस पहुंचे जहां मोदी ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. दोनों नेताओं के बीच पहले अकेले बातचीत हुई और फिर प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत शुरू हुई. दोनों नेताओं की मौजूदगी में भारत और रूस के प्रतिनिधियों ने रक्षा, परमाणु ऊर्जा, सीमा शुल्क, बैंकिंग, विमानन और कच्चे हीरों के भारत को निर्यात जैसे क्षेत्रों में अनेक करारों पर हस्ताक्षर किए.

पुतिन और मोदी आज प्रमुख औद्योगिक एवं कारोबारी समूहों के प्रमुखों से मिलेंगे. बाद में दोनों नेता विश्व हीरा सम्मेलन में भाग लेंगे. शाम को पुतिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी मुलाकात करेंगे. आज जन्मदिन मना रहे मुखर्जी रूसी राष्ट्रपति के सम्मान में दावत देंगे.

एमजे/एजेए (वार्ता)

DW.COM

संबंधित सामग्री