1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रूसी संघर्षविराम के बीच रक्का पर हमला, 20 मरे

अलेप्पो में रूस के संघर्ष विराम की घोषणा के बीच सीरियाई एक्टिविस्टों ने कहा है कि आईएस की राजधानी रक्का में हुए हवाई हमलों में 20 लोग मारे गए हैं.

तुर्की ने रूस से आईएस के खिलाफ संयुक्त कार्रवाई की अपील की. ये पेशकश तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुट चावुसोग्लू ने रूस और तुर्की के नेताओं की मुलाकात के बाद दी है. चावुसोग्लू ने आईएस के ठिकानों पर रूस के भड़के विवाद के बाद से रुके हमलों को फिर से शुरू करने की भी बात कही है. तुर्की ने रूस के लड़ाकू विमान को मार गिराया था और उसके बाद अमेरिकी नेतृत्व वाले अभियान में हिस्सेदारी रोक दी थी. रूस ने बदले में सीरिया में लंबी दूरी का एयर डिफेंस मिसाइल तैनात कर दिया था और तुर्की के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध भी लगा दिया था.

Syrien Aleppo Krankenhaus Patienten mit Atemmasken nach Giftgas Angriff

हमले के बाद अस्पताल में भर्ती लोग

उधर सीरियाई एक्टिविस्टों ने कहा है कि रक्का पर हुए हवाई हमलों में 20 लोग मारे गए हैं. रक्का इस्लामिक स्टेट की राजधानी जैसी है. एक्टिविस्ट ग्रुप का कहना है कि सुरक्षा ठिकानों के अलावा जलापूर्ति स्टेशन पर भी बमबारी हुई है. शहर की पानी सप्लाई कट गई है. ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्जर्वेटरी के अनुसार हमले में 24 लोग मारे गए हैं. छह लोगों की शिनाख्त अभी नहीं हुई है. दोनों ही संगठनों का कहना है कि हमले रूसी लड़ाकू विमानों ने किए.

सरकारी सीरियाई सैनिकों द्वारा नाकेबंद अलेप्पो में गुरुवार को शुरू हुए रूसी संघर्षविराम के बावजूद लड़ाई में कमी नहीं आई है. वहां रूस और तुर्की परस्पर विरोधी दलों का समर्थन कर रहे हैं. वहां स्थानीय एक्टिविस्टों ने क्लोरीन गैस हमले का आरोप लगाया है. एक राहतकर्मी और विपक्षी एक्टिविस्ट ने कहा कि विपक्षी कब्जे वाले जिले में सीरिया सरकार के क्लोरीन गैस वाले हवाई हमले में कम से कम दो लोग मारे गए. बुधवार को शहर के जबादीह इलाके में चार बैरल बम गिराए गए थे जिनमें से एक से कथित रूप से क्लोरीन गैस निकला. सीरिया के एक सैनिक अधिकारी ने आरोपों को ठुकराते हुए कहा है कि उग्रपंथी खबर गढ़ रहे हैं.

Russland Luftangriff in Aleppo

जनरल रुद्सकोई की प्रेस कॉन्फ्रेंस

इससे पहले सीरिया सरकार का साथ दे रही रूसी सेना ने मानवीय सहायता के लिए अलेप्पो में रोजाना तीन घंटे के संघर्षविराम का वादा किया. लेफ्टिनेंट जनरल सर्गेई रुद्सकोई ने कहा कि गुरुवार से 10 बजे से 1 बजे तक लड़ाई रोक दी जाएगी ताकि राहत सामग्रियों का वितरण हो सके.

इस बीच संयुक्त राष्ट्र और रूस के बीच संघर्ष विराम की काम करने लायक योजना पर बातचीत करने पर सहमति बन गई है. संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ राहत अधिकारी यान एगेलैंड ने कहा है कि तीन घंटे का संघर्ष विराम पर्याप्त नहीं है. 48 घंटे की जरूरत है. संयुक्त राष्ट्र के सीरियाई दूत स्टेफान दा मिस्तुरा के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यान एगेलैंड ने कहा कि अलेप्पो में राहत सामग्री बांटने की लॉजिस्टिक इतनी बड़ी है कि उसके लिए हफ्ते में कम से कम 48 घंटे चाहिए.

संबंधित सामग्री