1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रूसी बच्चों के गोद पर रोक

अमेरिकी नागरिक अब रूसी बच्चों को गोद नहीं ले पाएंगे. देश विदेश में भारी विरोध और आलोचना के बावजूद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने प्रतिबंध लगाने वाले विवादित कानून पर दस्तखत कर दिए.

रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन ने कहा कि कानून 2013 से प्रभावी हो जाएगा. अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने नए कानून पर गहरा अफसोस जताया है. यह नियम उस अमेरिकी कानून के विरोध में बनाया गया है, जिसमें रूसी वकील सेर्गेई मागनित्स्की की मौत से जुड़े रूसी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं.

अमेरिकी लॉ फर्म फायरस्टोन डंकन के लिए काम करने वाले रूसी वकील मागनित्स्की को रूसी पुलिस में भ्रष्टाचार के एक मामले का पर्दाफाश करने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. पिटाई के बाद 2009 में रूसी जेल में उनकी मौत हो गई. इस मामले के एकमात्र अभियुक्त और उस समय जेल के उप निदेशक रहे दिमित्री क्रातोव को शुक्रवार को एक अदालत ने बरी कर दिया.

Wladimir Putin

राष्ट्रपति पुतिन

नए रूसी कानून में गोद लेने पर रोक के अलावा उन अमेरिकी नागरिकों की सूची बनाने की भी बात है जो रूसी नागरिकों के अधिकारों के हनन के कारण रूस में अवांछित हैं. उन संगठनों पर भी रोक लगाई जा रही है, जिन्हें अमेरिका से चंदा मिलता है या जिनमें अमेरिकी नागरिक सदस्य हैं.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता पैट्रिक वेंट्रेल ने कहा कि उनकी सरकार गोद लेने पर प्रतिबंध का कानून पास किए जाने पर गहरा अफसोस जताती है. यह फैसला राजनीतिक कारणों से प्रेरित है. सरकार की चिंता यह भी है कि गोद लेने के मौजूदा मामलों को रोका जा सकता है. मॉस्को में अमेरिकी राजदूत माइकल मैक्फाल ने रूस सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा, "ऐसा करके अनाथ बच्चों की किस्मत को राजनीति से जोड़ा जा रहा है, जिसका कोई तुक नहीं बनता."

Russland Demonstration gegen Putin

पुतिन विरोधी प्रदर्शन

बिल का विरोध

बच्चों के लिए काम करने वाली संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनिसेफ के अलावा इस बिल के विरोध में रूस में भी आवाजें उठ रही हैं. रूसी मानवाधिकार काउंसिल के अध्यक्ष मिखाइल फीदोतोव ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय सौदेबाजी के लिए बच्चों का मोल भाव के लिए इस्तेमाल करना सही नहीं है." एक्टिविस्ट ल्युदमिला अलेक्सेवा ने कहा, "अनाथ बच्चों का दो देशों के राजनीतिक खेल में दुरुपयोग हो रहा है."

2011 में अमेरिकी नागरिकों ने 950 से ज्यादा रूसी बच्चों को गोद लिया. आलोचकों का मानना है कि यह बिल न सिर्फ रूसी बच्चों बल्कि उन्हें गोद लेने में दिलचस्पी रखने वाले अमेरिकी अभिभावकों के लिए भी बुरा है. एक रिपोर्ट के अनुसार 1992 में सोवियत संघ के खात्मे के बाद से अमेरिकियों ने 45,000 से ज्यादा बच्चों को गोद लिया है.

यूनिसेफ के कार्यकारी निर्देशक एंथनी लेक कहते हैं, "हम चाहेंगे कि रूस सरकार वही फैसला ले जो बच्चों के विकास और उनके संरक्षण को ध्यान में रखते हुए सही हो. हर बच्चा अच्छे माहौल में सुरक्षित जीवन जीने का हक रखता है."

एसएफ/एमजे (रॉयटर्स, एएफफी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री