1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

रिटायर हो सकते हैं रफ्तार के पितामह

फर्राटा रेस के सबसे बड़े नाम बर्नी एकेल्स्टन ने इस बात के संकेत दिए हैं कि अगर उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए, तो वह फॉर्मूला वन प्रमुख की गद्दी खाली कर देंगे. चार दशक से इस गद्दी पर उन्हीं का राज है.

82 साल के एकेल्स्टन ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि अगर जर्मनी के वकीलों ने उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए, तो वह अपने पद से हट जाएंगे. उन्होंने कहा, "इसके बाद फॉर्मूला वन के मालिक मुझसे छुटकारा पाना चाहेंगे और ऐसे में यह साधारण सी बात है कि मैं वैसा ही करूंगा."

जर्मनी में म्यूनिख के वकील इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या एकेल्स्टन ने एक जर्मन बैंकर को साढ़े चार करोड़ डॉलर की रिश्वत तो नहीं दी ताकि वह फॉर्मूला वन के बहुमत शेयर सीवीसी को बेच दे. सीवीसी फॉर्मूला वन की मालिकाना हक रखने वाली कंपनी है. जर्मन वकील जनवरी में इस बात की जानकारी देंगे कि क्या एकेल्स्टन पर धाराएं लगाई जाएं.

Bernie Ecclestone

बर्नी एकेल्स्टन

अधिकारियों का मानना है कि एकेल्स्टन ने 2005 में बायरिषे लांडेसबंक के गेरहार्ड ग्रिबकोवस्की को जो पैसे दिए, दरअसल वह रिश्वत थी. इस साल की गर्मियों में ग्रिबकोवस्की को जेल भेज दिया गया. एकेल्स्टन का दावा है कि उन्होंने पैसे इसलिए दिए ताकि उनके खिलाफ टैक्स को लेकर फैलाई जा रही गलतफहमियां बंद हों.

एकेल्स्टन पिछले चार दशक से फॉर्मूला वन से जुड़े हैं और इस दौरान इस रेस को उन्होंने सोने का अंडा देने वाली मुर्गी बना दिया है. उनका कहना है कि सीवीसी उन्हें नहीं हटाना चाहती है, हालांकि जब कोई उपाय न रह जाए, तो ऐसा करना पड़ेगा और इसलिए उनकी जगह लेने वाले की तलाश की जा रही है.

जर्मनी के अलावा ब्रिटेन में भी उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लग चुके हैं. उन्हें खेल जगत के सबसे ताकतवर लोगों में गिना जाता है. निजी जीवन में भी एकेल्स्टन चर्चा में रहते हैं, उन्होंने तीन बार शादी की है. आखिरी शादी उन्होंने इसी साल फाबियाना फ्लोसी से की है, जो 35 साल की हैं.

एजेए/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

WWW-Links