रिकॉर्ड तोड़ा ओबामा के ट्वीट ने | दुनिया | DW | 17.08.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रिकॉर्ड तोड़ा ओबामा के ट्वीट ने

जब दुनिया भर में नफरत और नस्लवाद फैलता दिख रहा है, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के एक ट्वीट ने सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं. उनके ट्वीट को ट्विटर के इतिहास में आज तक के सबसे अधिक 'लाइक' मिले हैं.

बराक ओबामा ने ट्वीट किया था, "कोई भी व्यक्ति जन्म लेने के साथ ही किसी दूसरे इंसान के रंग, पृष्ठभूमि या धर्म के कारण उससे नफरत नहीं करता." ये बात मूल रूप से दक्षिण अफ्रीका नेता नेल्सन मंडेला ने कही थी और बराक ओबामा ने इसे पिछले वीकएंड शार्लट्सविल में हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में ट्वीट किया था. इसने ट्विटर समुदाय के लोगों के दिल को छू लिया. सोशल मीडिया साइट ट्विटर ने बुधवार को बताया कि ट्वीट को 31 लाख बार पढ़ा गया है और 13 लाख बार रिट्वीट किया गया है. इस बीच यह संख्या 41 लाख और 16 लाख पार कर गयी है.

यह पहला मौका नहीं है जब पूर्व राष्ट्रपति ओबामा के किसी ट्वीट पर ऐसी प्रतिक्रिया हुई है. ओबामा अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने थे और उन्होंने इस टिप्पणी के साथ शार्लट्सविल की हिंसा पर प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. उनके विपरीत, अब राष्ट्रपति की कुर्सी पर बैठे डॉनल्ड ट्रंप ने हिंसा के लिए उग्र दक्षिणपंथी प्रदर्शनकारियों के साथ साथ नस्लवाद विरोधी प्रदर्शनकारियों को भी बराबर का जिम्मेदार ठहराया था.

हालांकि देश विदेश में हुई आलोचना के बाद कई दिनों बाद ट्रंप ने दक्षिणपंथी हिंसा की निंदा की. लेकिन नवनाजियों और कू क्लैक्स क्लैन के प्रदर्शनकारियों को अपराधी कहने के एक दिन बाद ही वे अपने पुराने रुख पर वापस लौट गये और कहा कि दोनों ही प्रदर्शनों में अच्छे और बुरे लोग थे.

अमेरिकी प्रांत वर्जीनिया के शार्लट्सविल में बीते शनिवार कई उग्र दक्षिणपंथी गुटों के सदस्यों ने प्रदर्शन किया था. प्रदर्शन की वजह एक कंफेडरेट आर्मी के जनरल की मूर्ति को हटाने की घटना थी. कंफेडरेट ने अमेरिकी गृहयुद्ध के दौरान दासप्रथा को बनाये रखने के लिए लड़ाई की थी. शनिवार को एक 20 वर्षीय संदिग्ध नवनाजी द्वारा विरोधी प्रदर्शनकारियों की भीड़ पर गाड़ी चढ़ाये जाने से एक महिला की मौत हो गयी थी और 19 लोग घायल हो गये थे.

एमजे/आरपी (एएफपी)

संबंधित सामग्री