1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

राजनीति के तूफान में अमेरिका

सैंडी के झोंकों का कहर थमने के बाद अमेरिका फिर राजनीति का तूफान देख रहा है. मंगलवार को होने वाले चुनावों के लिए डैमोक्रेट राष्ट्रपति बराक ओबामा और रिपब्लिकन मिट रोमनी दोनों ही चुनावी अभियान पर लौट गए हैं.

सैंडी तूफान की तबाही से उबरने के लिए राहत के वादों के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा न्यू जर्सी के दौरे के बाद चुनावी अभियान को आखिरी ताकत देने निकल गए हैं. उधर सैंडी तूफान से प्रभावित इलाकों में अभी भी करीब 40 लाख लोग बिना बिजली के हैं. आने वाले दिनों का मौसम ठंडा रहने का अनुमान है. बाहर भले ही सर्दी हो लेकिन राजनीति का मौसम चुनावी गर्मी से उबल रहा है. दोनों उम्मीदवार आखिरी के पांच दिन स्विंग स्टेट्स को अपनी ओर खींचने की कोशिश करेंगे. ओबामा ने विस्कॉन्सिन से चार राज्यों का दौरा शुरू किया है. यहां से वह नेवादा, कोलोराडो होते हुए फिर ओहायो जाएंगे.

डेमोक्रेट राष्ट्रपति ने कहा, "जब भी आपात स्थिति आती है, अमेरिका बेस्ट होता है. जो भी छोटे छोटे मतभेद हमें अलग कर रहे होते हैं, वे अचानक खत्म हो जाते हैं. किसी तूफान के दौरान कोई डैमोक्रेट या रिपब्लिकन नहीं होता. वह सिर्फ अमेरिकी होते हैं."

ओबामा ने अपने प्रतिद्वंद्वी को "चेंज" अभियान हाइजैक करने के लिए घेरा है. ग्रीन बे में अपने समर्थकों के सामने उन्होंने कहा, "अभियान के आखिरी सप्ताह में रोमनी एक विक्रेता के तौर पर अपने सारे तरीके आजमा रहे हैं. वह उन सारी नीतियों का प्रचार कर रहे हैं जिन्हें हम पिछले चार साल से हटाने की कोशिश कर रहे हैं, जिन्होंने हमारे देश को विफल किया है. अब वह उन्हें बदलाव के नाम पर बेच रहे हैं. गवर्नर जो पेश कर रहे हैं वह बदलाव तो निश्चित ही नहीं है. सबसे बड़े बैंकों को ज्यादा ताकत देना कोई बड़ा बदलाव नहीं है. और लाखों लोगों को बिना स्वास्थ्य बीमा के रखना कोई बदलाव नहीं है.

चार साल या पांच दिन

उधर रोमनी गुरुवार को चुनावी हवा बदलने वाले राज्य वर्जीनिया में थे. वहां उन्होंने रोएनोके में कहा कि ओबामा को चार और साल रखना अमेरिकी अर्थव्यवस्था का नुकसान करेगा. हम अगले चार साल पिछले चार सालों की तरह नहीं रह सकते. मैं जानता हूं कि ओबामा चार साल का गाना गा रहे हैं. हमारा मंत्र है पांच और दिन. रोमनी ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि कैबिनेट में एक और कुर्सी बढ़ाने से सड़कों पर लाखों की नौकरियां आएंगी. हमें बिजनेस समझने के लिए बिजनेस मंत्री की जरूरत नहीं. हमें एक राष्ट्रपति चाहिए जो बिजनेस समझता हो."

शुक्रवार को बेरोजगारी के आंकड़े ओबामा के लिए राहत और मुसीबत बन कर आए. अक्टूबर के आंकड़ों के हिसाब से हजारों नौकरियां पैदा हुईं, लेकिन इसके बावजूद बेरोजगारी बढ़ी है. हालांकि इससे शेयर बाजार के ग्राफ में कोई उत्साह नहीं देखा गया.

उधर न्यूयॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने बराक ओबामा का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर फैसले लेने के लिए ओबामा सही उम्मीदवार हैं.

अमेरिका में वैसे भी अर्ली वोटिंग के तहत मतदान शुरू हो चुका है.

रिपोर्टः आभा मोंढे (एएफपी, रॉयटर्स)

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links