1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

राजदूत से बदसलूकी पर भड़का भारत

अमेरिका में भारतीय राजदूत मीरा शंकर के साथ बदसलूकी के बाद भारत बुरी तरह नाराज है. मिसीसीपी एयरपोर्ट पर मीरा शंकर की हाथ से तलाशी हुई और परिचय देने के बाद भी खराब व्यवहार हुआ.

default

भारतीय दूत मीरा शंकर

भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने कहा कि यह बात पूरी दुनिया को पता है कि राजनयिक समुदाय के लोगों की जांच किस तरह होती है और उनके साथ किस तरह से पेश आना चाहिए. इसके बाद भी तीन महीने के अंदर दूसरी बार अमेरिका में ऐसा किया गया. रिपोर्टें हैं कि साड़ी पहने होने की वजह से मीरा शंकर के साथ बुरा बर्ताव हुआ.

कृष्णा ने कहा, "भारत इसे बर्दाश्त नहीं कर सकता है और इस मुद्दे को अमेरिकी सरकार के साथ उठाया जाएगा. मैं समझता हूं कि मामले को सुलझा लिया जाएगा ताकि दोबारा ऐसी घटना न हो." यह पूछे जाने पर कि क्या अमेरिका से इस मुद्दे पर रिपोर्ट मांगी गई है, कृष्णा ने कहा कि कई तरीकों से इस मामले को अमेरिकी सरकार के साथ उठाया जा सकता है.

Der indische Außenminister S. M. Krishna

नाराज हैं विदेश मंत्री

पिछले हफ्ते चार दिसंबर को मिसीसीपी एयरपोर्ट पर अमेरिका में भारतीय राजदूत को सिक्योरिटी की लाइन से बाहर कर दिया गया. उन्होंने सुरक्षाकर्मी को बताया कि वह एक राजनयिक हैं, इसके बाद भी उन्हें रियायत नहीं मिली. जैकसन एवर्स एयरपोर्ट पर साड़ी पहने हुई शंकर बालटीमोर की फ्लाइट पकड़ने वाली थीं.

मीरा शंकर ने अपने राजनयिक कागजात सुरक्षा अधिकारी को दिखाए. उनके साथ मिसीसीपी विकास प्राधिकरण का एक अधिकारी और एक एयरपोर्ट सुरक्षा अधिकारी भी था. लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई और उन्हें अलग कमरे में ले जाया गया, जहां महिला सुरक्षाकर्मी ने हाथ से उनके पूरे शरीर की तलाशी ली गई.

मीरा शंकर पिछले साल अमेरिका की राजदूत बनीं. इससे पहले वह जर्मनी में भारत की राजदूत थीं. 60 साल की मीरा भारत की सबसे वरिष्ठ राजदूतों में शामिल हैं. उन्हें एक मजबूत महिला समझा जाता है लेकिन एयरपोर्ट पर मौजूद लोगों ने बताया कि तलाशी के वक्त उनके चेहरे अपमानित किए जाने के भाव थे.

अमेरिका में इससे पहले भारत के नागरिक विमानन मंत्री प्रफुल्ल पटेल से शिकागो एयरपोर्ट पर आव्रजन अधिकारियों ने घंटों पूछताछ की थी. दरअसल अमेरिका में एक दूसरे प्रफुल्ल पटेल पर निगरानी रखी जा रही है, इस वजह से केंद्रीय मंत्री पर शक हुआ.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links