1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

राजकुमार की शादी से ब्रिटेन में आएगी बहार

आर्थिक मंदी और खर्च में कटौती कर किसी तरह बजट घाटे को कम करने में जुटे ब्रिटेन में अब राजकुमार की शादी ही लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाएगी. शानदार शादी लोगों को बजट, कटौती और मंदी से हट कर कुछ सोचने का मौका देगी.

default

ऐसा नहीं कि महारानी एलिजाबेथ मंदी से परेशान नहीं. शाही खर्च का बजट 1990 के स्तर पर आ गया है और यहां तक कि महल के कर्मचारियों के लिए होने वाली सालाना क्रिसमस पार्टी भी रद्द कर दी गई है. पर नई पीढ़ी की पहली शादी का उत्साह कुछ और ही होता है. 28 साल के राजकुमार विलियम जब अपनी खूबसूरत महबूबा को दुल्हन बना कर लाएंगे तो जश्न का नया सिलसिला शुरू होगा. संगीत के सुरों में ढलती शामों और रंग बिरंगी आतिशबाजी की रोशनी में नहाये बकिंगम पैलेस की चमक से लोगों के चेहरे पर बिछा मंदी का अंधेरा खत्म हो जाएगा भले ही कुछ देर के लिए ही सही.

BdT Beleuchtung vom Buckingham Palast

रौशनी में नहाएगा राजमहल

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन तो शादी की खबर सुन कर फूले नहीं समा रहे. कहते हैं,"यह एक शानदार मौका है. जब देश के सारे लोगों के पास खुशी मनाने की एक बेहतरीन वजह है. मुझे पूरा यकीन है कि यह शादी देश के सारे लोगों को एक साथ ले आएगी." इतिहास गवाह है कि पूरा देश जब खुशी के इन मौकों पर एक साथ जश्न मनाता है तो लोगों का उत्साह विकास के नए रास्ते खोलता है. अब यह चाहे शाही घराने की शादी का मौका हो या फिर वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के टीम की जीत हो.

उप प्रधानमंत्री निक क्लेग भी कम उत्साह में नहीं. ब्रिटेन में बजट कटौती के दौर में होने वाली शाही शादी के क्या मायने हैं, पूछने पर कहते हैं," ऐसी बहुत सी वजहें हैं जिनके कारण ब्रिटेन के लोग थोड़े उदास हैं लेकिन मुझे लगता है कि यह शादी इतनी शानदार होगी कि लोग एक साथ आकर इसका जश्न मनाएंगे. हम लोग ऐसे ही किसी मौके का इंतजार कर रहे हैं."

Prinz Charles heiratet Diana

प्रिंस चार्ल्स की शादी पर हुआ था ऐसा जश्न

डाउ जोन्स न्यूज एजेंसी के वरिष्ठ स्तंभकार डेविड कॉटल कहते है," ब्रिटेन संकट में हैं लेकिन उससे निबटने का आखिरी हथियार मिल गया है, शाही शादी ब्रिटेन की कुछ दिनों के लिए अर्थव्यवस्था में पैसों का प्रवाह बढ़ा देगी. एक बार जरा सोच कर देखिए. यादगार तोहफे, पत्रिकाएं, सैलानियों से घिरे नवदंपती, शादी की तस्वीरें. इन सब के रास्ते देश में अरबों पाउंड की रकम आएगी."

शाही परिवार के लिए इस तरह के बड़े मौके इससे पहले कई बार आ चुके हैं. 1981 में प्रिंस चार्ल्स की लेडी डायना से शादी, 1953 में रानी एलिजाबेथ की ताजपोशी और फिर 1977 और 2002 में ताजपोशी के 25 और 50 साल पूरे होने पर हुआ जश्न. इन सब मौकों पर पूरे देश में जबर्दस्त जश्न हुए और सारे ब्रिटेनवासियों ने दिल खोल कर खुशियां बटोरीं. इस तरह के मौके शाही परिवार में लोगों की दिलचस्पी भी काफी बढ़ा देते हैं. सैलानियों की तो भीड़ लग जाती है. विजिट ब्रिटेन नाम की ट्रैवेल एजेंसी के सीईओ सैन्डी दवे कहते हैं, "अगले साल महल, शादी और शाही परिवार से जुड़े इतिहास को देखने के लिए सैलानियों उमड़ी भीड़ ब्रिटेन के पर्यटन उद्योग की झोली में कम से कम 35 अरब रुपये की भारी रकम डाल जाएगी."

दवे का कहना है, "राजकुमार और राजकुमारी अभी बिल्कुल युवा और जोश से भरे हैं. निश्चित रूप से दुनियाभर के लाखों लोग इस शादी को देखना चाहेंगे क्योंकि यह शाही परिवार के युवा सदस्यों और हमारी प्रिय महारानी को देखने का एक बढ़िया मौका है."

शाही शादी की खबर ऐसे समय में आई है जब ब्रिटेन में महंगाई की दर 3.2 फीसदी तक पहुंच गई है. बैंक ऑफ इंगलैंड ने इसे 2.0 फीसदी रखने का लक्ष्य तय किया था. अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी है और ऐसे में ब्याज दरों में बढ़ोतरी के भी कोई आसार नहीं. कैमरन सरकार ने पिछले महीने ही बजट में भारी कटौती का प्रस्ताव रखा है. इसमें करीब पांच लाख सरकारी नौकरियों को खत्म करने की भी बात है. ब्रिटेन का बजट घाटा 155 अरब पाउंड तक जा पहुंचा है. शादी राजकुमार की हो रही है और खबर सुन कर ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था उम्मीद से है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links