1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

रजनी की रोबोट से दीवाने हुए दर्शक

तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म रोबोट रिलीज़ हो चुकी है. भारत की सबसे महंगी फिल्म में 1.65 अरब रुपए लगे हैं और जाहिर है फिल्म देखने रजनी के फैंस का दीवानापन फिर हद से गुजर गया है.

default

फिल्म समीक्षक अक्सर कहते हैं कि रजनीकांत की फिल्मों में आप अपने दिमाग सहित अपनी वैज्ञानिक समझबूझ को घर पर छोड़ आएं, तो ही मज़ा है. पिस्तौल की एक गोली से दो शिकार, ऐसा रजनी की फिल्म में ही हो सकता है. और इस बार रजनी के साथ निर्देशक शंकर और अभिनेत्री ऐश्वर्या राय ने सारी सीमाएं पार कर ली हैं, फिल्म रोबोट के जरिए.

लेकिन लोगों की दीवानगी की हद यह है कि चेन्नई में रजनी के फैंस रोबोट जैसा दिखने की कोशिश कर रहे हैं. खास दुकानों में रोबोट के चमकीले कॉस्ट्यूम खरीदे जा सकते हैं. आम लोग ही नहीं, चेन्नई के सत्यम थिएटर में राज्य के मुख्यमंत्री करुणानिधि और उनके परिवार सदस्य भी फिल्म देखने पहुंचे. तमिल में फिल्म का नाम एंधिरन रखा गया है.

चेन्नई में शुक्रवार को चार बजे सुबह रिलीज़ के साथ साथ रजनी के फैंस ने सिनेमा घरों के बाहर पटाखे छोड़े और ढोल बजाए. एक फैन ने पहला शो देख कर फिल्म को सुपरहिट बताया और कहा कि फिल्म 1000 दिनों तक थिएटरों में चलती रहेगी.

जानेमाने फिल्म समीक्षक चद्रमोहन शर्मा डॉयचे वेले से बातचीत में कहते हैं कि रोबोट सच्चाई के जीत की कहानी है और फिल्म में तकनीक हॉलिवुड की स्पाइडरमैन और टर्मिनेटर के मुकाबले की है. फिल्म काफी मजेदार है और दिल्ली में ढेरों लोग थिएटरों के चक्कर लगा रहे हैं. फिल्म में रजनी एक वैज्ञानिक का किरदार निभा रहे हैं जो एक रोबोट बनाता है. सात आठ साल की कड़ी मेहनत के बाद चिट्टी नाम का रोबोट पैदा होता है जो देश के सरहदों की रक्षा कर सकता है. लेकिन मानवीय भावनाएं न होने की वजह से चिट्टी सोच समझ कर काम नहीं कर पाता है. वैज्ञानिक डॉ. वसीकरन जब चिट्टी में भावनाएं डालते हैं, तो चिट्टी को उनकी प्रेमिका सना से प्यार हो जाता है. सना का किरदार ऐशवर्या ने निभाया है.

उधर एनडीटीवी ने अपनी फिल्म समीक्षा में लिखा है कि जहां फिल्म का प्लॉट दिलचस्प है, वहीं इंटरवल के बाद फिल्म कुछ खिंचने लगती है और बेकार का शोर भी बहुत है. ऐशवर्या का किरदार कुछ बार्बी डॉल की तरह है, जिसका काम अधिकतर समय सुंदर लगना है और बाकी समय लाचार लगना है. फिल्म में स्पेशल इफेक्ट्स डाइनोसोर्स पर बनी जुरेसिक पार्क के स्तर के तकनीकी विशेषज्ञों ने किया है और कहानी काफी रोचक है.

वहीं हिंदुस्तान टाइम्स कहता है कि यह भारत की सबसे महंगी ब्लॉकबस्टर है और फिल्म के हर मिनट पर जितने भी करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं, वे दर्शकों को दिखते हैं. बॉलिवुड में पहली बार इस तरह के स्पेशल इफेक्ट्स देखने को मिले हैं और यह हॉलिवुड के ट्रांसफॉर्मर और टर्मिनेटर फिल्मों की परंपरा का है. लेकिन फिल्म कुछ ज्यादा ही लंबी है. हालांकि फिल्म को लेकर मची धूम और फैंस के बाजों के बीच 61 साल के रजनी ने रोबोट में जो प्रदर्शन किया है, वह यादगार है.

यादगार रजनी ही नहीं, बल्कि फिल्म भी रहेगी. फिल्म उद्योग में माना जा रहा है कि पहले महीने में 450 करोड़ रुपये तक का मुनाफा हो सकता है. रोबोट को जापानी भाषा में भी डब किया जाएगा जिससे जापान में रजनी के फैंस फिल्म का मज़ा ले सकें. भारत, अमेरिका और ब्रिटेन के साथ साथ चीन और अफ्रीका में भी फिल्म को रिलीज़ किया जाएगा.

रिपोर्टः एमजी

संपादनः वी कुमार

WWW-Links