1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

यौन शोषण के कारण जर्मन चर्च में इस्तीफे

जर्मनी में इस साल कैथोलिक गिरजे में बच्चों के यौन शोषण के आरोपों के सामने आने के बाद हजारों लोगों ने चर्च को अलविदा कह दिया है. 2009 के मुकाबले चर्च छोड़ने वालों की संख्या में भारी वृद्धि.

default

दैनिक फ्रांकफुर्टर रुंडशाऊ ने जर्मनी के विभिन्न डायसिस में एक सर्वे के बाद कहा है कि आउग्सबुर्ग, रोटेनबुर्ग-श्टुटगार्ट और ट्रियर के डायसिस में स्थिति खासी गंभीर है. आउग्सबुर्ग में मध्य दिसंबर तक लगभग साढ़े 11 हजार लोगों ने कैथोलिक गिरजे से नाता तोड़ा जबकि 2009 में पूरे साल में यह संख्या करीब 7 हजार थी.

रिपोर्ट के अनुसार रोटेनबुर्ग-श्टुटगार्ट डायसिस में मध्य नवंबर तक लगभग 17 हजार लोगों ने कैथोलिक गिरजे से इस्तीफा दिया जबकि एक साल पहले यह संख्या साढ़े 10 हजार थी. कार्ल मार्क्स के जन्म के लिए मशहूर ट्रियर में नवंबर तक 7 हजार लोग कैथोलिक चर्च छोड़ गए जबकि 2009 में साढ़े 4 हजार लोगों ने चर्च छोड़ा.

सर्वे के अनुसार मार्च, अप्रैल और मई महीनों में सबसे ज्यादा लोगों ने चर्च छोड़ा. ये वे महीने हैं जिसमें कैथोलिक गिरजे के संस्थानों में बच्चों के यौन शोषण के अनेकों मामले सामने आए. चर्च के सदस्यों में कमी के औपचारिक आंकड़े कुछ महीनों के बाद आएंगे.

हालांकि सभी डायसिस में कैथोलिक गिरजे से इस्तीफे में 2009 के मुकाबले वृद्धि हुई है लेकिन बर्लिन में जहां के जेसुइट हाइ स्कूल में यौन शोषण का मामला सबसे पहले सामने आया, 2009 के 4700 के मुकाबले इस साल 4800 लोगों ने चर्च छोड़ा. आर्कडायसिस कोलोन ने इस्तीफे का आंकड़े नहीं दिए हैं. उसके अधिकार क्षेत्र बॉन में भी एक यौन शोषण कांड सामने आया.

कैथोलिक गिरजे के अंदर 'हम चर्च हैं' आंदोलन ने बिशपों पर आरोप लगाया है कि वे इस संकट पर कुंडली मार कर बैठे हैं. उनका कहना है कि विवादास्पद मुद्दों पर खुले संवाद की जरूरत है, लेकिन वह 2011 में पोप बेनेडिक्ट सोलहवें के जर्मनी दौरे के कारण संभव नहीं होगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ओ सिंह

DW.COM