1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

योगी आदित्यनाथ को मिली सबसे अहम राज्य की गद्दी

हिंदुत्व समर्थक दक्षिणपंथी नेता योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व भारत के सबसे बड़े प्रांत उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है. अपनी मुस्लिम विरोधी टिप्पणियों के लिए विख्यात मुख्यमंत्री ने 44 मंत्रियों के साथ शपथ ली.

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए विधान सभा चुनावों में 403 में से 309 सीटें जीती हैं. गोरखनाथ मठ के महंत 44 वर्षीय योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में अत्यंत लोकप्रिय हैं और चुनावों में पार्टी के स्टार प्रचारक थे. सामान्य रूप से गेरुआ वस्त्र में रहने वाले आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के अन्य राष्ट्रीय नेताओं और बीजेपी शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की उपस्थिति में गेरुआ वस्त्र में ही मुख्यमंत्री पगद की शपथ ली.

योगी आदित्य नाथ पहली बार 26 साल की उम्र में गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से संसद के लिए चुने गये थे और तब से लगातार पांच बार सांसद चुने गये हैं. प्रचुर संसदीय और राजनीतिक अनुभव के बावजूद उन्हें कोई प्रशासनिक अनुभव नहीं है. इसलिए उनकी सरकार में दो उप मुख्यमंत्री नियुक्त किये गये हैं.

उत्तर प्रदेश का चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा के अलावा अहम चुनाव था क्योंकि 544 सदस्यों वाली भारत की संसद में वह सबसे ज्यादा 80 सदस्यों को भेजता है. इस प्रांतीय चुनाव में भारी जीत के बाद संसद के ऊपरी सदन राज्य सभा में भी बीजेपी की स्थिति मजबूत होगी और विपक्ष को सरकारी विधेयकों में बाधा डालने में मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा.

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार का जोर विकास और कानून और व्यवस्था पर होगा. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार समाज के विभिन्न वर्गों के बीच कोई भेदभाव नहीं करेगी. उन्होंने कहा, "हमारा नारा केंद्र सरकार की ही तरह सबका साथ, सबका विकास है."

विपक्षी दलों ने योगी आदित्यनाथ को मुक्यमंत्री बनाये जाने की आलोचना की है और कहा है कि उन्हें मुख्यमंत्री चुनकर बीजेपी ने संकेत दिया है कि वह प्रांत को विभाजित करना चाहती है. विपक्षी कांग्रेस पार्टी के नेता वीरप्पा मोइली ने कहा, "यह देश में धर्मनिरपेक्षता पर बड़ा आघात है. भारत हिंदुत्व नहीं है, हिंदुत्व भारत नहीं है." वहीं बीजेपी नेता वेंकैया नायडू ने कहा कि आदित्यनाथ बहुत लोकप्रिय नेता है और उन्हें पता है कि लोग क्या चाहते हैं.

एमजे/ओएसजे (पीटीआई, डीपीए)

संबंधित सामग्री