1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

'ये यूरोप का खात्मा है'

शानदार आवाज की मालिक कोंचीटा वुर्स्ट ने जहां अपने गाने से दुनिया भर में कई फैन्स जमा किए वहीं उनके भेष और विचारधारा से कई दुश्मन भी.

समलैंगिकों को समाज में सहिष्णुता के साथ स्वीकार किया जाए, इस विचारधारा वाली कोंचीटा वुर्स्ट एक ड्रैग क्वीन हैं, यानि एक पुरुष जो महिलाओं की तरह कपड़े पहनना पसंद करता है. टाइट ड्रेस, लंबे बाल, नकली आयलैश, मेक अप और दाढ़ी के साथ कोंचीटा दुनिया के सामने जाती हैं और अकसर उनके साथ मतभेद होता है. वो कहती हैं, "यह लंबे समय तक एक मुद्दा बना रहेगा और मुझे डर है कि मेरे जीवन में तो इसे खत्म होता मैं नहीं देख सकूंगी. यह मेरे जीवन भर का काम है और इसकी जिम्मेदारी लेने से मैं खुश हूं. मेरी जीत उन लोगों की भी जीत है जो ऐसे भविष्य में यकीं रखते हैं जो बिना भेदभाव वाला, सहिष्णुता और आदर से भरपूर होगा."

नाराज लोग

यूरोविजन सॉन्ग कॉन्टेस्ट में कोंचीटा के शामिल होने के साथ ही विवाद शुरू हो गया. बेलारुस, रूस और यूक्रेन में उन्हें फाइनल से निकाले जाने की याचिकाएं शुरू हो गईं. रुसी नेता और स्टार तो उनकी जीत से इतने बौखलाए कि एक नेता ने यहां तक कह दिया कि "हम किसी जमाने में ऑस्ट्रिया में थे, हमें वहां से लौटना ही नहीं चाहिए."

हालांकि जीत के बाद जब वो वियेना पहुंची तो करीब 1000 फैन्स वहां चेहरे पर दाढ़ी पेंट किए उनका इंतजार कर रहे थे, इनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे. उन्होंने कहा, मुझे उन पर (आलोचकों पर) गुस्सा नहीं है. मुझे लगता है कि सब कुछ किसी वजह से होता है."

यूरोप का खात्मा

वुर्स्ट के भेष ने पूर्वी यूक्रेन में नाराजगी की भारी लहर पैदा की है. रूस के उप प्रधानमंत्री दिमित्री रोगोजिन ने ट्वीट किया कि यूरोविजन के नतीजों ने "दिखाया कि यूरोपीय एकता के समर्थकों का यूरोपीय भविष्य क्या होगा, एक दाढ़ी वाली लड़की." रूस के राष्ट्रवादी नेता व्लादिमीर झिरिनोवस्की ने तो यहां तक कह दिया, "यह यूरोप का अंत है. उनके यहां पुरुष और महिलाएं हैं ही नहीं, उनके पास ये (नपुंसक) हैं."

लेकिन वुर्स्ट ने कहा कि माता पिता को उनके बच्चों को ये बताना चाहिए कि "वो एक युवा लड़का है जो महिलाओं के कपड़े पहनता है. वह चाहता है कि आप उसका मजाक नहीं उड़ाएं. अगर आप बच्चों को ये बताएंगे तो वो समझेंगे. बच्चे आपकी सोच से बहुत ज्यादा समझदार होते हैं."

यूरोविजन जीतने से ऑस्ट्रिया बहुत खुश हुआ क्योंकि उन्हें 48 साल बाद ये जीत मिली है. स्थानीय रेडियो ने विजेता गीत राइज लाइक ए फीनिक्स चार घंटे में 48 बार बजाया.

एएम/एमजी (एएफपी)