1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

येदियुरप्पा मंत्रीमंडल से नहीं हटेंगे रेड्डी बंधु

कर्नाटक में भारी विवाद के बीच मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने स्पष्ट कर दिया है कि विवाद के केंद्र में आए रेड्डी बंधुओं को वह मंत्रीमंडल से नहीं हटाएंगे. येदियुरप्पा का कहना है कि अगर आरोप साबित हुए तो कर सकते हैं विचार.

default

दिल्ली में गृह मंत्री पी चिदम्बरम से मुलाकात के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कहा, "किसी भी मंत्री के खिलाफ कोई आरोप नहीं है. लेकिन अगर आरोप हुए तो मैं 24 घंटों के भीतर उन्हें हटा दूंगा." येदियुरप्पा से पूछा गया था कि क्या वह भारतीय जनता पार्टी नेता एलके आडवाणी के पदचिन्हों पर चलते हुए अपने मंत्रियों को इस्तीफे के लिए कहेंगे.

आडवाणी पर 1990 के दशक में हवाला कांड में शामिल होने के आरोप लगे और उन्होंने संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. येदियुरप्पा ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल (एस) ने रेड्डी भाइयों के खिलाफ मुहिम छेड़ी हुई है और पर्यटन मंत्री जनार्दन रेड्डी और राजस्व मंत्री करुणाकरण रेड्डी का विरोध राजनीतिक दुश्मनी से पनपा है.

जब येदियुरप्पा से पूछा गया कि अवैध खनन के मामले की जांच सीबीआई से कराने से उनकी सरकार क्यों कतरा रही है तो उन्होंने जवाब दिया कि लोक आयुक्त के पास सारे अधिकार हैं. लोक आयुक्त चाहें तो केंद्र सरकार, राज्य सरकार यहां तक की केंद्रीय एजेंसियों की भी मदद ले सकते हैं. "वह अवैध खनन मामले की जांच कर रहे हैं. जल्द से जल्द हम 2002 से अब तक के मामले उन्हें सौंपने जा रहे हैं. जल्द ही सच्चाई बाहर आ जाएगी और जो भी दोषी होगा उसे सजा मिलेगी."

दिल्ली में गृहमंत्री पी चिदम्बरम से मुलाकात में येदियुरप्पा ने अवैध खनन, लोक आयुक्त संतोष हेगड़े के इस्तीफे और फिर उसे वापस लेने, कर्नाटक में कानून व्यवस्था और महाराष्ट्र के साथ जारी सीमा विवाद पर बातचीत की. रेड्डी भाइयों पर आरोप है कि उन्होंने कर्नाटक में अवैध खनन के जरिए करोड़ों रुपयों का मुनाफा कमाया है और येदियुरप्पा सरकार पर उन्हें मंत्रीमंडल से हटाने का जबरदस्त दबाव है. विपक्ष इस मामले की सीबीआई जांच की भी मांग कर रहा है. कुछ दिन पहले विपक्ष ने रात भर विधानसभा में धरना भी दिया था.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा एम

संबंधित सामग्री