1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

यूरोप में गायब हुए दर्जनों विमान

मलेशिया के विमान एमएच370 को गायब हुए करीब 100 दिन हो गए हैं. रडार से गायब हो जाने के कारण विमान का पता नहीं लगाया जा सका. हैरानी की बात है कि पिछले दिनों में यूरोप में दर्जनों उड़ानें रडार से गायब हुई हैं.

एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने यह बात मानी है कि ऑस्ट्रिया, जर्मनी और चेक गणराज्य में पिछले दो हफ्तों में ऐसे कई मामले सामने आए जिनमें रडार पर विमान की कोई खबर नहीं थी. अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में जांच जारी है. रिपोर्टों के अनुसार पांच और दस जून को अलग अलग वक्त पर जर्मनी और ऑस्ट्रिया के विमानों का डाटा गायब हो गया. कुछ देर के लिए अधिकारियों को न ही विमान की लोकेशन के बारे में पता था, न ही इस बारे में कोई जानकारी थी कि वे किस दिशा में, कितनी ऊंचाई पर और किस गति से उड़ रहे हैं. इसके बावजूद अधिकारियों का कहना है कि किसी भी विमान को कोई खतरा नहीं था.

जर्मनी के एयर ट्रैफिक कंट्रोल के एक प्रवक्ता ने कहा, "विमान केवल कुछ सेकंड के लिए ही स्क्रीन से गायब हुए थे. यह छोटी मोटी बात है, इसे संजीदगी से लेने की कोई जरूरत नहीं." क्योंकि कोई हादसा नहीं हुआ, इसलिए ऐसा कहा जा सकता है. लेकिन एमएच370 का उदाहरण दिखाता है कि सुरक्षा के लिहाज से यह कितनी बड़ी चूक है.

नाटो पर इल्जाम

ऑस्ट्रिया के एयर ट्रैफिक कंट्रोल के प्रवक्ता ने बताया कि ऑस्ट्रिया में पांच तारीख को दस और दस तारीख को तीन विमानों के साथ ऐसा हुआ. उनका कहना है कि पूरे यूरोप में 50 से ज्यादा विमानों के साथ ऐसा हुआ है.

ऑस्ट्रिया के अखबार 'डी प्रेसे' ने लिखा है कि स्लोवाकिया में भी विमानों के गायब होने के मामले दर्ज किए गए हैं. हालांकि स्लोवाकिया के एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने इस पर कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया है. ऑस्ट्रिया के प्रवक्ता ने बताया कि यूरोप के एयर नेविगेशन सुरक्षा संघ यूरोकंट्रोल और ईएएसए मामले की छानबीन कर रहे हैं. दोनों संघों ने इस बारे में बात करने से इनकार किया है.

वहीं ऑस्ट्रिया में मीडिया ने इसके लिए नाटो को जिम्मेदार ठहराया है. नाटो ने अभी इस पर कोई जवाब नहीं दिया है. ऑस्ट्रिया के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि वह फिलहाल इस बात की पुष्टि नहीं कर सकता कि कितने विमान गायब हुए. मंत्रालय का कहना है कि सेना के रडार हर समय काम करते हैं और अगर एयर ट्रैफिक कंट्रोल से कोई चूक हो भी, तब भी सेना के पास सारा डाटा जमा रहता है.

यूरोप में हवाई ट्रैफिक सबसे ज्यादा होता है. मलेशियाई विमान के गायब होने के बाद से यहां चौकसी बढ़ गयी है. एयरलाइन इंडस्ट्री ने सितंबर तक बेहतर सिस्टम बनाने का आश्वासन दिया है.

आईबी/एमजी (रॉयटर्स)

DW.COM