1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

यूक्रेन में लड़ रहा है रूसः अमेरिका

अमेरिका ने गुरुवार को आरोप लगाया कि पूर्वी यूक्रेन के संघर्ष में रूस सीधे तौर पर हिस्सा ले रहा है. इस इलाके में अलगाववादियों के साथ लंबे वक्त से संघर्ष चल रहा है और कोई नतीजा नहीं निकल पाया है.

कीव में अमेरिकी राजदूत ज्योफ्री पायट ने ट्वीट किया, "रूसी सैनिक ज्यादा संख्या में यूक्रेनी धरती पर संघर्ष में हिस्सा ले रहे हैं. रूस ने अपना आधुनिक वायु रक्षा सिस्टम भी पूर्वी यूक्रेन में भेजा है और अब वह सीधे तौर पर युद्ध में शामिल है."

पिछले कुछ दिनों में यूक्रेन की सेना ने अलगाववादियों पर गहरा अंकुश लगाया था लेकिन हाल के कुछ दिनों में उनकी शक्ति दोबारा बढ़ती दिख रही है. इस घटनाक्रम के बाद कीव प्रशासन ने नाटो से मदद मांगी है. यूक्रेन और पश्चिमी देशों में रूस की संलिप्तता के बाद चिंता बढ़ती जा रही है. हालांकि रूस इस बात से इनकार करता आया है.

पोलैंड के प्रधानमंत्री डोनाल्ड टुस्क का कहना है कि नाटो और पोलिश खुफिया विभाग के पास इस बात के सबूत हैं कि रूसी सेना नियमित रूप से यूक्रेन में सक्रिय है. फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने गुरुवार को चेतावनी दी है कि अगर रूसी सेना यूक्रेन की सीमा में सक्रिय है, तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. यूक्रेन का तो यहां तक दावा है कि रूसी सैनिकों के एक बटालियन ने डोनेस्क से 50 किलोमीटर दूर पोबेदा गांव में सैनिक मुख्यालय भी बना लिया है.

Ukraine Ost Dontesk 27.8.

लंबे समय से चल रहा यूक्रेन संकट

नई जगहों पर कब्जा

इस बीच एक प्रमुख विद्रोही नेता ने इस बात को माना है कि उन्हें रूसी सेना से समर्थन मिल रहा है. अलेक्जांडर जखारचेनको का कहना है, "कई रूसी सैनिक हमारे साथ आ रहे हैं. वे अपनी छुट्टियां समुद्र किनारे नहीं, बल्कि हमारी आजादी के लिए संघर्ष करते हुए बिताना चाहते हैं." जखारचेनको डोनेस्क के स्वयंभू प्रधानमंत्री हैं. रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा है कि उनका देश यूक्रेन को बांटने में कोई दिलचस्पी नहीं रखता है.

यूक्रेन का दावा है कि उग्रवादियों ने रूसी सैनिकों के साथ मिल कर डोनेस्क से 30 किलोमीटर दूर श्टारोबेशेवे शहर पर कब्जा जमा लिया है. उसका आरोप है कि आस पास के कई गांवों पर भी उनका नियंत्रण हो चुका है. यहां कई दिनों से संघर्ष चल रहा है.

नाटो से सहयोग

यूक्रेन के प्रधानमंत्री आरसेनाई यातसेन्युक ने कहा है कि अगले हफ्ते वेल्स में होने वाली बैठक के दौरान इस बात पर चर्चा होनी चाहिए कि नाटो हमारी मदद करे, "हम सहयोगी पश्चिमी देशों से उम्मीद करते हैं कि सितंबर में होने वाली बैठक में अहम फैसले लिए जाएं." यूक्रेन और नाटो के करीबी रिश्तों का रूस विरोध करता आया है.

इससे पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको और रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने मंगलवार को बैठक की लेकिन किसी अहम पड़ाव तक नहीं पहुंच पाए.

रूस बार बार इस बात से इनकार करता आया है कि यूक्रेन के घटनाक्रमों में उसका कोई हाथ है. पिछले दिनों यह खबर आई कि यूक्रेन ने कुछ रूसी सैनिकों को पकड़ लिया है लेकिन इस पर भी रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने खुल कर कुछ नहीं कहा.

एजेए/आीबी (एएफपी)

संबंधित सामग्री