1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

यूएस ओपन में जापान का सपना टूटा

डोपिंग का बैन झेलकर कोर्ट पर लौटे क्रोएशिया के मारिन सिलिच ने जापान से इतिहास बनाने का मौका छीन लिया. जापान के केई निशिकोरी को आसानी से हरा कर सिलिच ने न्यूयॉर्क में खिताब अपने नाम किया.

मंगलवार की सुबह जापान के टेनिस फैन के लिए अच्छी खबर तो लेकर नहीं आई. उनके हीरो निशिकोरी जोकोविच को हरा देने के बावजूद फाइनल में सिलिच से पार नहीं पा सके. दो घंटे के अंदर 1.98 मीटर लंबे सिलिच ने 1.78 मीटर के निशिकोरी को सीधे सेटों में 6-3, 6-3, 6-3 से हरा दिया.

दीवाना क्रोएशिया

इस जीत के साथ मारिन सिलिच टेनिस की टॉप टेन की सूची में चार साल में पहली बार पहुंचेंगे. सिलिच के देश क्रोएशिया में उनकी जीत का भारी जश्न मनाया जा रहा है. सिलिच ने कहा, "मैंने एक दो लोगों से बात की. जागरेब में मेरे गॉडफादर ने मुझसे कहा कि मैं सोच ही नहीं पाऊंगा कि किस तरह से वहां जश्न हो रहा है. सभी टीवी से चिपके बैठे हैं. क्रोएशिया में एकदम वर्ल्ड कप जैसा माहौल है. मैं सबको संदेश देना चाहूंगा कि सहयोग और मुझमें विश्वास रखने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद. आपके कारण मैं बहुत मजबूत हुआ, जीतने के लिए और भूखा होता चला गया. यह मेरे लिए तो खास दिन है ही लेकिन क्रोएशिया के लिए ज्यादा खास है."

जीत के बाद सिलिच ने अपने कोच और पूर्व विम्बलडन विजेता गोरान इवानोसेविच को श्रेय दिया और कहा कि साल भर पहले इवानोसेविच के साथ काम शुरू करने के कारण उनके खेल में फर्क पड़ा है. सिलिच डोपिंग की वजह से नौ महीने का निलंबन झेल चुके हैं.

हार का जश्न

क्रोएशिया में जहां सिलिच की जीत का जश्न था, जापान में निशिकोरी के फाइनल में पहुंचने का था. जापान की एक फैन हेयरस्टाइलिस्ट होतारू शोदा ने कहा, "मुझे निशिकोरी पर गर्व है, भले ही वो हार गए हों. लेकिन वह बहुत ही बढ़िया खेले. सभी जापानियों को उन पर गर्व होना चाहिए." निशिकोरी के गृह नगर मातसुए के गांव शिमाने में करीब 900 लोगों ने एक साथ एक हॉल में बैठकर बड़ी स्क्रीन पर मैच देखा. स्थानीय अधिकारी कासुफुमी मोरी ने एएफपी को बताया, "काफी लोग दुखी हुए. लेकिन फिर भी निशिकोरी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाले पहले जापानी हैं. इसलिए मातसुए के लोगों को उन पर बहुत गर्व है."

डेविस कप के कप्तान रह चुके एइजी ताकेउची ने कहा, "निशिकोरी कोई बहुत बड़े व्यक्ति भले ही नहीं हों लेकिन उन्होंने उन जापानी बच्चों को उम्मीद दिखाई है जो ये सोचते हैं कि वो भी ऐसा कर सकते हैं."

अमीर निशिकोरी

इससे पहले निशिकोरी 2012 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के आखिरी आठ में पहुंच सके थे. इतना ही नहीं निशिकोरी टेनिस में सबसे ज्यादा पैसा कमाने खिलाड़ियों की फोर्ब्स की सूची में नवें नंबर पर हैं. सीबीएस स्पोर्ट्स के नील पिल्सन कहते हैं, "उनमें मार्केटिंग की जबरदस्त संभावना है. सिर्फ जापान में ही नहीं बल्कि वह अमेरिका में भी अहम नए एथलीट हो सकते हैं." जापान में वैसे भी निशिकोरी का बड़ा नाम है, कई पत्रिकाएं सिर्फ उन्हीं पर चलती हैं. जून 2013 से जून 2014 के बीच उन्होंने एक करोड़ दस लाख डॉलर कमाएं. लेकिन इसके बावजूद उनकी छवि एक बेहद मेहनती और प्रतिभाशाली खिलाड़ी की है.

एएम/ओएसजे (रॉयटर्स, एएफपी, डीपीए)

संबंधित सामग्री