1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

युवा खिलाड़ियों के लिए शानदार मौकाः धोनी

टीम इंडिया के कप्तान धोनी ने कहा है कि वरिष्ठ खिलाड़ियों के जख्मी हो जाने के कारण युवा खिलाड़ियों के पास अपनी काबिलियत को साबित करने का एक अच्छा मौका है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज का पहला मैच आज डरबन में.

default

कप्तान धोनी ने युवा खिलाड़ियों को हिदायत दी है कि वो बेहतर प्रदर्शन के लिए दबाव में आने की बजाय ज्यादा से ज्यादा रन बना कर चयनकर्ताओं को खुश करने की कोशिश करें. धोनी ने कहा, "ये उनके लिए अच्छा मौका है. ऐसी हालत में उन्हें ज्यादा दबाव में आने की बजाय रन बनाने की कोशिश करनी चाहिए ताकी चयनकर्ताओं के पास ज्यादा से ज्यादा विकल्प हों. अगर कोई ज्यादा रन बनाएगा तो निश्चित रूप से वो दूसरे खिलाड़ी के मुकाबले बेहतर स्थिति में होगा." दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच से ठीक पहले धोनी ने ये बातें कही. पहला मैच बुधवार को डरबन में खेला जाएगा.

Kricket Mahendra Singh Dhoni und Graeme Smith

धोनी ने माना कि युवा खिलाड़ियों के लिए ये हर तरह से फायदे का सौदा है. टीम इंडिया के कप्तान खेल तो दक्षिण अफ्रीका में रहे हैं लेकिन उनकी नजरें टिकी हैं अगले महीने शुरू होने वाले वर्ल्ड कप पर. 19 फरवरी से 2 अप्रैल के बीच ये मुकाबले भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश की संयुक्त मेजबानी में खेले जाएंगे. धोनी ने कहा कि टीम के वरिष्ठ खिलाड़ियों की फिटनेस को कोई खतरा न हो इसलिए फिलहाल हर तरह के जोखिम से बचने की कोशिश हो रही है. यही वजह है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उतने वाली टीम में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को ही मौका दिया जाएगा.

Mahendra Singh Dhoni

धोनी ने कहा, "अगर टीम के मुख्य 11 खिलाड़ी मैदान में उतरते तो अच्छा होता. हम पिछले साल फरवरी से हमने अपने बेस्ट 11 खिलाड़ियों के साथ नहीं खेला है. उम्मीद है कि बेस्ट टीम अब वर्ल्ड कप के पहले मैच में ही एक साथ मैदान पर होगी. खिलाड़ियों के घायल होने का खतरा है इसलिए कोई जोखिम नहीं लिया जा रहा. हम नहीं चाहते कि वर्ल्ड कप में हमारी टीम में बेस्ट खिलाड़ी न हो, हमने कुछ सीरीज बिना उनकी मौजूदगी के खेली है और आगे भी ऐसा ही करेंगे."

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के साथ टेस्ट सीरीज में बराबरी कर टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर अपना कब्जा बरकरार रखा है. धोनी मानते हैं कि दक्षिण अफ्रीका खिलाफ अच्छा खेलना इस बात पर निर्भर करता है कि नई गेंद के साथ खिलाड़ियों को प्रदर्शन कैसा रहता है. धोनी ने कहा, "हमें शुरुआत से ही सावधान रहना होगा और गेंदबाजों को पूरी इज्जत देनी होगी."

2006 में दक्षिण अफ्रीकी दौरे को याद करते हुए धोनी ने कहा कि इस समय के हालात तब से अलग हैं, "तब हम जरूर सारे मैच हार गए थे और अब उससे बुरा तो कुछ हो नहीं सकता लेकिन मै यही कहूंगा कि ये बीते दौर की बात है. इस बार का टेस्ट सीरीज 2006 के मुकाबले बिल्कुल अलग रहा है और यही हाल वनडे में भी रहने की उम्मीद है."

इसके साथ ही कप्तान धोनी ने ये भी कहा कि टॉस बहुत अहम होगा. धोनी के मुताबिक सुबह सुबह बल्लेबाजी ज्यादा अच्छी होगी क्योंकि दोपहर बाद रोशनी कम हो जाती है और तब गेंद को समझाना ज्यादा मुश्किल होगा. ऐसे में टॉस जीतना जरूरी है पर साथ ही उसके बाद खेल भी अच्छा दिखाना होगा."

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ओ सिंह

DW.COM