1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

यहां नहीं चलता ऑस्कर: अक्षय कुमार

अक्षय कुमार ने कहा, भारत में मसालेदार फिल्में ही ज्यादा चलती हैं. बॉलीवुड के खिलाड़ी के मुताबिक ऑस्कर जीतने वाली फिल्मों को भारत में नहीं पूछा जाता है. कहा, करता रहूंगा ऐसे ही किरदारों में हेरा फेरी.

default

'तीस मार खां' यह फिल्म क्रिसमस यानी 25 दिसंबर को बॉक्स ऑफिस पर आ रही है. फिल्म का एक गाना 'शीला का जवानी' पहले ही धूम मचा रहा है. गाने की सफलता से अभिनेता अक्षय कुमार और डायरेक्टर फराह खान दोनों उत्साहित हैं. 43 साल में भी लड़कों की जवानी को मात देने वाले अक्षय कहते हैं, ''मैं अलग अलग किरदार करने का मजा उठाता हूं, मुझे प्रयोगों से डर नहीं लगता. लेकिन मुझे लगता है कि भारत में हमेशा व्यवसायिक सिनेमा ही सफल रहा है. ऑस्कर जीतने वाली फिल्में भारत में नहीं चल पाती हैं.''

शाहरुख, आमिर और सलमान खान जैसे अभिनेताओं के बीच में रहने के बावजूद पिछले दो दशक में अक्षय कुमार को फिल्मों की कमी कभी महसूस नहीं हुई है. इस साल अब तक उनकी तीन फिल्में आ चुकी हैं. हाउसफुल, खट्टा मीठा और एक्शन रिप्ले, ये तीनों फिल्मों औसत दर्जे का कारोबार ही कर पाई लेकिन अक्षय इससे संतुष्ट हैं. उनका कहना है कि अच्छी फिल्में वह भी करना चाहते हैं लेकिन अक्सर ऐसी कई फिल्मों को सिनेमाघरों में अकाल सा देखना पड़ता है.

Film Tees Maar Khan

तीस मार खां...

वह कहते हैं, ''अगर दर्शक व्यवसायिक फिल्में ही पंसद करते हैं तो एक्टर्स को अपने करियर के रुख को मोड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए. मसाला फिल्में शानदार होती हैं लेकिन कई बार आप अभिनय की सारी सीमाएं तोड़ देना चाहते हैं. एक चुनौतीपूर्ण किरदार को शानदार ढंग से निभाना चाहते हैं. पर भारत में ज्यादातर दर्शकों को ऐसी फिल्में पसंद ही नहीं आती.''

इसके साथ ही अक्षय ने बता दिया कि 'तीस मार खां' कैसी फिल्म है. उन्होंने कहा, '''जीवन में बहुत तनाव हैं, ऐसे में हर कोई मनोरंजन चाहता है. ऐसे लोगों से मुझे कोई शिकायत नहीं है. तीस मार खां भी ऐसी भी फिल्म हैं. हर ढंग से खुश कर देने वाली. यह परिवार के साथ देखी जाने वाली कॉमेडी फिल्म है.''

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: आभा एम

DW.COM