1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

म्यूनिख में बायर्न और बार्का की टक्कर

बायर्न म्यूनिख के खिलाड़ी पूरे उत्साह और पूरी योजना के साथ घरेलू मैदान पर लियोनेस मेसी और उनके साथियों का मुकाबला करने के लिए तैयार हैं. खिलाड़ियों और ट्रेनर को क्लब प्रमुख के टैक्स कांड के सवालों से बचाकर रखा गया है.

जर्मनी में बायर्न की टीम अजेय मानी जा रही है, लेकिन यूरोप के बाहुबलियों के सामने वो कितने पानी में है, इसका राज मंगलवार की शाम म्यूनिख के स्टेडियम में खुलेगा. चैंपियंस लीग के फाइनल की राह पर म्यूनिख के खिलाड़ी मेसी की बार्सिलोना टीम की भी परवाह नहीं करना चाहते. म्यूनिख के कप्तान फिलिप लाम कहते हैं, "हम पूरी तरह से चोटी की टीम से भिड़ रहे हैं, लेकिन हम भी चोटी की टीम हैं. हमारा गेम एक महोत्सव होगा और उस पर हम सब खुश हो सकते हैं."

चैंपियंस लीग का सेमी फाइनल ऐसे समय में हो रहा है जब बवेरिया की टीम बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही है, लेकिन मुकाबले के ठीक पहले क्लब के प्रमुख ऊली होएनेस का टैक्स चोरी का कांड सामने आ गया है. हालांकि उन्होंने अपने स्विस खाते के बारे में खुद टैक्स अधिकारियों को बताया है और 60 लाख यूरो के बकाया टैक्स का भुगतान भी किया है, लेकिन जांच अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि उन्हें इस मामले में माफी मिल सकती है या नहीं. इस बीच मुकाबले से पहले खिलाड़ी और टीम के मैनेजर होएनेस से जुड़ी मुश्किलों को नजरअंदाज कर खेल पर ध्यान दे रहे हैं.

मैच से एक दिन पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में टैक्स मामले से संबंधित सवाल पूछने की इजाजत नहीं थी. कोच और कप्तान होएनेस के बारे में बात करने के बदले अपने विरोधियों और अपनी ताकत के बारे में बात कर रहे थे. इस सीजन के बाद बायर्न छोड़ रहे कोच युप हाइंकेस ने कहा, "बार्का के पास बहुत कल्पनाशील और अद्भुत क्षमता वाले खिलाड़ी हैं, इसलिए हर स्थिति में और हर समय में ध्यान देना होगा." लेकिन साथ ही उन्होंने इस पर भी जोर दिया कि बायर्न भी ऐसे उच्च स्तर पर खेल सकता है.

Bildcombo Fussballer

बायर्न के सामने बार्का, रियाल मैड्रिड के सामने डॉर्टमुंड

बायर्न बनाम बार्का, श्वाइनश्टाइगर बनाम खावी, बायर्न बनाम मेसी, बार बार आदर्श कहे जाने वाले क्लब के खिलाफ म्यूनिख में 25 मई को होने वाले फाइनल की आधारशिला रखी जाएगी. बायर्न के खेल निदेशक मथियास सामर म्यूनिख में होने वाले 90 मिनट के खेल का केंद्रीय संदेश बताते हुए कहते हैं, "हम उत्साह से पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन रणनीति, योजना और बुद्धिमानी के बिना कुछ नहीं होगा." और पिछले विश्व कप में सबसे ज्यादा गोल करने वाले बायर्न के थोमस मुलर कहते हैं, "हम इस सीजन में सर पर ताज रखना चाहते हैं."

लेकिन फुटबॉल के बादशाह मेसी को कैसे रोका जाएगा? हालांकि हाइंकेस इस पर जोर देते हैं कि बार्का मेसी से ज्यादा कुछ है, लेकिन अर्जेंटीना के मेसी ने बार बार दिखाया है कि वे लगातार विश्व फुटबॉलर क्यों बन रहे हैं. सामर कहते हैं, "मेसी प्रतिभाशाली हैं, अद्भुत खिलाड़ी हैं, बार्का उन पर बहुत कुछ निर्भर करता है." वे साथ ही यह भी जोड़ते हैं कि बायर्न की टीम लगातार बेहतर होती गई है और हम जीतना चाहते हैं. कप्तान लाम को अपने खिलाड़ियों पर भरोसा है. वे कहते हैं, "हमारे पास जमने और जीतने के लिए खिलाड़ी और किरदार हैं."

बायर्न के लिए इस बार मौका है. पिछले साल फाइनल म्यूनिख में था, लेकिन बायर्न की टीम फाइनल में पहुंचवने के बावजूद चेल्सी से हार गया. चार साल पहले म्यूनिख का मुकाबला क्वार्टर फाइनल में बार्सिलोना से हुआ था. तब बायर्न की टीम 0-4 से हारी थी. बास्टियान श्वाइनश्टाइगर और फ्रांक रिबेरी इस हार के गवाह थे. लेकिन खिलाड़ियों के ताजा उत्साह को बखान करते हुए फ्रांस के फ्रांक रिबेरी कहते हैं, "2009 में बार्सिलोना हमसे बहुत बेहतर था, लेकिन अब हमारे पास दूसरी टीम है. अब हम बेहतर हैं." कौन बेहतर है, इसे देखने 68,000 लोग म्यूनिख के अलायंस एरेना में पहुंचेंगे और लाखों लोग इस मैच को अपने टेलिवीजन सेट पर देखेंगे.

एमजे/ओएसजे (जीपीए)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री