1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मौत को पछाड़ गए शूमाखर

फॉर्मूला वन के चैंपियन रहे मिषाएल शूमाखर को लुजान के यूनिवर्सिटी क्लीनिक से छुट्टी मिल गई है. उनकी मैनेजर ये जानकारी देते हुए कहा कि अभी 45 साल के खिलाड़ी को काफी आराम की जरूरत है.

29 दिसंबर 2013 को स्कीइंग दुर्घटना में मिषाएल शूमाखर गंभीर रूप से जख्मी हुए थे और लंबे समय तक कोमा में रहे. उनकी मैनेजर सबीने केम ने बताया, "मिषाएल अब घर पर ही स्वास्थ्य लाभ लेंगे. गंभीर चोट के बाद पिछले हफ्तों और महीनों के दौरान उनकी हालत में काफी सुधार हुआ है. लेकिन अभी लंबा और मुश्किल रास्ता उनके सामने है."

1996 से शूमाखर अपनी पत्नी कोरिना और दोनों बच्चों के साथ स्विट्जरलैंड में लेक जेनेवा के पास रहते हैं. उनकी मैनेजर केम ने एक बार फिर अपील करते हुए कहा, "शूमाखर परिवार की निजता का आदर किया जाए और मिषाएल के स्वास्थ्य के बारे में किसी तरह की अटकलें नहीं लगाई जाएं." मिषाएल जून में कोमा से बाहर आ गए. इसके बाद उन्हें यूनिवर्सिटी क्लीनिक ग्रेनोबल से लुजान लाया गया. इतना ही नहीं एक व्यक्ति ने उनका मेडिकल रिकॉर्ड भी बेचने की कोशिश की. इस व्यक्ति को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया गया.

9 दिसंबर 2013 करीब 11 बजे

शूमाखर स्कीइंग के लिए मेरिबेल के ट्रैक पर थे. स्कीइंग के दौरान उन्होंने एक चट्टान पर से छलांग लगाई. वह नियंत्रण खो बैठे और सिर के बल पथरीली सतह से टकरा गए. शूमाखर उस समय बोल रहे थे लेकिन कुछ समझ नहीं पा रहे थे. उनका हेलमेट टूट गया था. गंभीर चोट के कारण उन्हें मेरिबेल से ग्रेनोबल ले जाया गया. उनकी हालत गंभीर बताई गई.

30 दिसंबर 2013

शूमाखर की हालत गंभीर ही थी. उनके मस्तिष्क में एक और चोट थी. उनका दो बार ऑपरेशन हुआ. दिमाग के बाएं हिस्से में जमा खून का थक्का निकाला गया. करीब दो घंटे ऑपरेशन चला.

1 जनवरी 2014

शूमाखर की मैनेजर सबीने केम ने प्रेस से कहा कि शूमाखर की हालत स्थिर है लेकिन गंभीर भी है. जीवन को खतरा बना हुआ है.

3 जनवरी 2014

शूमाखर का 45वां जन्मदिन. 100 से ज्यादा फरारी फैन शूमाखर को दुआएं देने ग्रेनोबल पहुंचे. परिवार ने धन्यवाद देते हुए कहा, "हम भाव विह्वल हैं."

7 जनवरी 2014

शूमाखर की पत्नी कोरिना ने मीडिया से अपील की कि डॉक्टरों और उनके परिवार को अकेला छोड़ दिया जाए.

30 जनवरी 2014

मैनेजर केम ने बताया, " मिषाएल का एनेस्थिशीया कम किया जा रहा है ताकि उन्हें नींद से बाहर लाया जाए. इसमें काफी समय लग सकता है."

17 फरवरी 2014

दुर्घटना की जांच करने वाली समिती ने फैसला दिया कि दुर्घटना में किसी और का हाथ नहीं था. इसमें किसी का दोष भी नहीं था.

4 अप्रैल 2014

मैनेजर ने बताया कि शूमाखर की सेहत बेहतर हो रही है और वह होश में आ रहे हैं.

16 जून 2014

इस दिन बताया गया कि मिषाएल शूमाखर को ग्रेनोबल रे छुट्टी दे दी गई है. वह कोमा से बाहर आ गए हैं. लेकिन उनकी सेहत के बारे में कुछ नहीं कहा गया. उन्हें स्वास्थ्य लाभ के लिए लुजान के क्लीनिक में रखा गया.

9 सितंबर 2014

लुसान से शूमाखर को घर भेज दिया गया. उनकी देखभाल अब घर पर ही की जाएगी. मैनेजर केम ने कहा कि उनके सामने अभी काफी लंबा और मुश्किल रास्ता है.

रिपोर्टः येन्स क्रेपेला/एसएन/एएम

संपादनः ओंकार सिंह जनौटी

DW.COM