1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मोहाली टेस्टः भारत ने बनाए 110

मोहाली टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 428 रन पर आउट करने के बाद भारत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक दो विकेट खोकर 110 रन बना लिए हैं. सहवाग ने ताबड़तोड़ अर्धशतक बनाया.

default

वीरेंद्र सहवाग का तूफान

भारत का पहला विकेट 81 के स्कोर पर गौतम गंभीर के रूप में गिरा. गंभीर ने 25 रन बनाए. मिशेल जॉनसन ने एलबीडब्ल्यू आउट किया. वीरेंद्र सहवाग ने अपना अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने सिर्फ 39 गेंदों पर 50 रन पूरे किए. इसमें 9 चौके शामिल हैं. हालांकि इसके बाद वह धीमे पड़ गए और अगली 15 गेंदों पर उन्होंने 9 रन बनाए.

54 गेंदों पर 59 रन बनाने के बाद मिशेल जॉनसन ने क्लार्क के हाथों कैच कराकर सहवाग की पारी समाप्त कर दी. तब भारत का स्कोर 106 रन था.

इसके बाद कुछ ही देर का खेल बाकी था. लिहाजा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने नाइट वॉचमैन के तौर पर इशांत शर्मा को भेजा. इशांत ने अपना विकेट खेल खत्म होने तक बचा कर रखा. अब राहुल द्रविड़ और इशांत रविवार को तीसरे दिन के खेल की शुरुआत करेंगे. द्रविड़ 21 रन पर खेल रहे हैं.

इससे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने मजबूत स्थिति हासिल कर ली. उसकी पहली पारी 428 रन पर खत्म हुई.

पहले दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने 224 रन बनाए थे जबकि उसके पांच विकेट गिर गए थे. दूसरे दिन सुबह भारतीय गेंदबाज जल्दी जल्दी कुछ विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया के बढ़ते स्कोर को रोकना चाहते थे, लेकिन इसमें उन्हें कामयाबी नहीं मिली.

ऑस्ट्रेलिया का छठा विकेट स्कोर में 51 रन और जुड़ने के बाद 275 पर गिरा. शेन वॉटसन को हरभजन सिंह की एक गेंद पर गौतम गंभीर ने कैच किया. लेकिन तब तक वॉटसन 126 रन की बेहतरीन पारी के रूप में अपना योगदान दे चुके थे.

इसके बाद लंच तक भारत को कोई और विकेट नहीं मिला. लंच के वक्त ऑस्ट्रेलिया का स्कोर छह विकेट पर 295 रन हो गया. सातवें विकेट के लिए टिम पेन और मिशेल जॉनसन ने 50 रन जोड़े. इस बीच पेन ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया. लंच के बाद जब ड्रिंक्स भी हो चुकीं, तब जाकर विकेट के लिए भारतीय टीम का इंतजार खत्म हुआ.

मिशेल जॉनसन को जहीर खान ने विकेट के पीछे धोनी के हाथों कैच कराया. खान ने जॉनसन को अर्धशतक पूरा करने से 3 रन पहले ही पैविलियन भेज दिया. तब ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 357 रन हो चुका था और वह मजबूत स्थिति में आ चुका था.

इसके बाद हरभजन सिंह ने हॉरिट्ज को आउट कर भारत को एक और कामयाबी दिलाई. लेकिन इससे ऑस्ट्रेलिया को कोई खास फर्क नहीं पड़ा क्योंकि उसका स्कोर 373 पर पहुंच चुका था. नौवें विकेट के लए हिलफेनहाउस ने टिम पेन का अच्छा साथ निभाया और दोनों मिलकर स्कोर को आराम से 400 के पार ले गए.

आखिरी दो विकेट लेने के लिए भारतीय गेंदबाजों को 54 रन खर्च करने पड़े. 427 के स्कोर पर ऑस्ट्रेलिया का नौवां विकेट गिरा जब पेन को जहीर खान ने 92 के निजी स्कोर पर आउट किया. इसके बाद ही रन स्कोर में जुड़ा था कि प्रज्ञान ओझा ने बोलिंगर को भी चलता कर दिया.

इस पारी में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट जहीर खान ने लिए. उन्होंने पांच खिलाड़ियों को आउट किया. हरभजन को तीन विकेट मिले और प्रज्ञान ओझा ने एक खिलाड़ी को पैविलियन भेजा.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एम गोपालाकृष्णन

DW.COM

WWW-Links