1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मोहन बागान दो साल निलंबित

भारत के मशहूर फुटबॉल क्लब मोहन बागान को दो साल के लिए निलंबित कर दिया है. एक मैच के दौरान बागान के खिलाड़ी ग्राउंड से बीच में ही बाहर निकल आए, जिसके बाद यह फैसला किया गया.

कोलकाता में खेले जा रहे एक मैच के दौरान दर्शकों में से किसी ने पत्थर फेंका, जिसकी वजह से बागान का एक खिलाड़ी घायल हो गया. इसके बाद विरोध जताने के लिए सभी खिलाड़ी वॉकआउट कर गए.

इस घटना पर कड़ा कदम उठाते हुए भारतीय फुटबॉल संघ ने उन्हें निलंबित कर दिया. संघ ने एक बयान जारी कर कहा कि इसके साथ ही मौजूदा आई लीग मुकाबले में मोहन बागान के सभी मैचों को रद्द कर दिया जाता है और उनका कोई मूल्य नहीं होगा.

नौ दिसंबर को चिर प्रतिद्वंद्वी ईस्ट बंगाल के खिलाफ मैच में मोहन बागान की टीम एक गोल से पीछे चल रही थी. इसी दौरान किसी ने रेफरी को निशाना बना कर पत्थर फेंका, जो बागान के खिलाड़ी सैयद रहीम नबी को लग गया. इस वजह से नबी के जबड़े की हड्डी टूट गई.

इस घटना के बाद मैच को 13 मिनट के लिए रोक दिया गया. लेकिन मध्यांतर के बाद मैच का बहिष्कार करते हुए मोहन बागान की टीम मैदान पर नहीं उतरी. भारत के लिए 49 मैच खेल चुके नबी को छह हफ्ते तक मैदान से दूर रहने की डॉक्टरी सलाह मिली है.

इस मामले की जांच रिटायर जज एके गांगुली से कराई गई और भारतीय फुटबॉल संघ की आई लीग कमेटी ने मोहन बागान को अगले दो साल तक के लिए आई लीग में अयोग्य़ घोषित कर दिया गया.

जज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बागान ने मध्यांतर के बाद मैदान पर नहीं उतरने का फैसला किया और इसे सही नहीं ठहराया जा सकता है. साल्ट लेक स्टेडियम में करीब 85,000 लोग यह मैच देख रहे थे.

एजेए/ओएसजे (एएफपी)

DW.COM

WWW-Links