1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

मोमा के विस्तार पर विवाद

न्यूयॉर्क के मशहूर म्यूजियम ऑफ मॉर्डन आर्ट में कला के लिए जगह छोटी पड़ रही है और इसके विस्तार के लिए पड़ोसी इमारत को गिराने का प्रस्ताव है. इस बात को लेकर खासा विवाद खड़ा हो रहा है.

म्यूजियम ऑफ मॉर्डन आर्ट पूरी दुनिया में मोमा के नाम से प्रसिद्ध है और इसकी पड़ोसी इमारत भी कला से जुड़ी है, जहां कभी अमेरिकी लोककला म्यूजियम हुआ करता था. इसे गिराने का काम बस शुरू होने वाला है. पिछले लगभग 20 साल से मोमा के निदेशक ग्लेन लॉरी इस पूरे म्यूजियम को सोशल नेटवर्क के दायरे में लाना चाहते हैं और इस वजह से भी उनकी आलोचना हो रही है.

साल 1929 में बने मोमा को कला आलोचना का स्वर्ग कहा जाता है, जहां फैन गॉग और पाबलो पिकासो से लेकर दुनिया भर के बड़े कलाकारों की रचनाएं सहेज कर रखी गई हैं. विश्व भर में इसका खासा रुतबा है. मोमा का कहना है कि अब इसे न्यूयॉर्क में सबसे ज्यादा "स्वागत करने वाला म्यूजियम" बनाने की तैयारी चल रही है.

Pablo Picasso Porträt

पिकासो का मोमा से खास रिश्ता

ज्यादा पुरानी नहीं इमारत

सामाजिक कार्यकर्ता और कलाकारों ने पास की इमारत को ढहाने की योजना का विरोध किया है, जो 2001 में पूरी की गई थी और जिसके डिजाइनर टॉड विलियम और बिली सीन हैं. पहले तो मोमा ने कहा कि वह अपनी योजना पर दोबारा विचार करेगा लेकिन इस साल जनवरी में उसने तय किया कि इमारत जरूर गिराई जाएगी, जिसके बिना मोमा का विस्तार नहीं हो सकता. मोमा ने तीन साल पहले 2011 में लोककला म्यूजियम को खरीद लिया था.

विलियम और सीन का कहना है, "यह एक अलग तरह की इमारत है, जिसे बहुत सोच समझ कर डिजाइन किया गया है. इस इमारत को कई लोगों ने देखा, यहां पढ़ाई की और अब यह यादों के हवाले हो जाएगी." जब यह इमारत गिरा दी जाएगी, तब मोमा गैलरी में 30 फीसदी जगह बढ़ जाएगी, जहां ज्यादा कलाकृतियां लगाई जा सकेंगी. मोमा के निदेशक लॉरी का कहना है, "निश्चित तौर पर मैं इस बात पर बेहद दुखी हूं कि इस कदम से एक समुदाय को दुख होगा, जिसकी हम चिंता भी करते हैं. लेकिन दूसरी तरफ कभी कभी आपको मुश्किल फैसले लेने पड़ते हैं, जब आपको लगता है कि आप सही सोच रहे हैं."

म्यूजियम पर सवाल

कुछ हलकों का कहना है कि मोमा यह कदम इसलिए उठा रहा है ताकि ज्यादा लोगों को आकर्षित कर सके क्योंकि हाल के दिनों में इसकी लोकप्रियता घटी है. हालांकि आंकड़े इससे इतर हैं. लॉरी के कार्यकाल में मोमा में सालाना 30 लाख ज्यादा पर्यटक आ रहे हैं और इसका क्षेत्रफल 8000 वर्ग मीटर से बढ़ा कर 12,000 वर्ग मीटर कर दिया गया है. टिकट की कीमत भी पहले आठ डॉलर हुआ करती थी, जो अब बढ़ कर 25 डॉलर हो गई है.

खुद लॉरी को अपनी टीम से भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. बोर्ड सदस्य एगनेस गुंड का कहना है, "बोर्ड में मेरे जैसे कई लोग हैं, जो इस फैसले से खुश नहीं हैं."

एजेए/एमजी (डीपीए)

संबंधित सामग्री