1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी सरकार ने की एक और सचिव की छुट्टी

भारत में नरेंद्र मोदी की सरकार ने अपने एक वरिष्ठ अधिकारी को पद से हटा दिया है. गृह सचिव अनिल गोस्वामी को शारदा चिट फंड मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री मतंग सिंह की गिरफ्तारी को लेकर उठे विवाद के बाद हटाया गया.

सरकार ने एक बयान में कहा कि अनिल गोस्वामी का इस्तीफा तुरंत प्रभाव से स्वीकार कर लिया गया है. गोस्वामी पर शारदा चिट फंड मामले में सीबीआई जांच में हस्तक्षेप करने का आरोप था. मीडिया में मतंग सिंह की गिरफ्तारी रोकने के लिए सीबीआई अधिकारियों पर दबाव डालने की खबरों के बाद उन्हें प्रधानमंत्री कार्यालय में तलब किया गया और उनसे पद छोड़ने के लिए कहा गया. उनका कार्यकाल इस साल जुलाई में खत्म होने वाला था.

पिछले हफ्ते नरेंद्र मोदी की सरकार ने विदेश सचिव सुजाता सिंह को उनके प्रदर्शन से नाखुश होने के कारण अचानक हटा दिया था और उनकी जगह पर अमेरिका में भारत के राजदूत एस जयशंकर को नियुक्त किया था. इन दोनों ही अधिकारियों की नियुक्ति कांग्रेस शासन के दौरान हुई थी.

Indien Demos pro und contra Chit funds

भारत के तमाम चिट फंड विवादों में घिरे हैं

नरेंद्र मोदी की दक्षिणपंथी बीजेपी पिछले साल मई में भ्रष्टाचार के खात्मे के वादे के साथ कई रिश्वत कांडों में उलझी कांग्रेस को हटाकर सत्ता में आई. प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की है और उनसे ज्यादा काम करने और कुशलता की मांग की है. उन्होंने अफसरशाही अनुशासन पर जोर देने के लिए बिना बताए दफ्तरों का दौरा भी किया है.

भारतीय मीडिया के अनुसार गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने मंत्रालय के सबसे वरिष्ठ अधिकारी को यह पता लगने के बाद हटा दिया कि उन्होंने कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे मतंग सिंह को गिरफ्तारी से बचाने की कोशिश की. सीबीआई ने शारदा घोटाले के सिलसिले में पश्चिम बंगाल में कई वरिष्ठ स्थानीय नेताओं और सांसदों को गिरफ्तार किया है. शारदा ग्रुप के दिवालिया होने के बाद लाखों छोटे बचतकर्ताओं की जमापूंजी लुट गई थी.

एमजे/आरआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री