1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी, मैर्केल डालेंगे गहरे व्यापारिक संबंधों की नींव

जर्मनी के दौरे पर आए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल ने दोनों देशों के बीच व्यावसायिक संबंधों को बढ़ावा देने की बात कही. इस साल हैनोवर मेले में भारत पार्टनर देश है.

ऑडियो सुनें 02:57

मोदी का हैनोवर में भाषण

जर्मन चांसलर ने भारत के साथ ईयू मुक्त व्यापार समझौते पर फिर से बातचीत शुरु करने की वकालत की है. रविवार शाम मैर्केल दुनिया के सबसे बड़े औद्योगिक व्यापार मेले हैनोवर मेसे के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रही थीं. मैर्केल ने जर्मनी के उत्तरी शहर हैनोवर में दिए अपने संबोधन में कहा, "जर्मनी और भारत के बीच व्यापार संबंधों को और बढ़ाने की संभावना है, जबकि जर्मनी वैसे भी यूरोप में भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर है." इसके अलावा उद्घाटन समारोह में मैर्केल और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेले में आयोजित हुई कई द्विपक्षीय वार्ताओं में भी हिस्सा लिया. इस बार व्यापार मेले में पार्टनर देश के तौर पर शिरकत कर रहे भारत से उद्योग जगत के करीब 400 लोगों के भाग लेने की उम्मीद है. हैनोवर मेले में दुनिया भर के 70 से भी ज्यादा देशों से लगभग 6,500 प्रदर्शक हिस्सा ले रहे हैं.

भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "किसी भी अन्य पश्चिमी देश के मुकाबले जर्मनी ने भारत के व्यापार जगत का लाभ उठाने की ओर सबसे अधिक काम किया है." मोदी ने मेक इन इंडिया अभियान के बारे में जानकारी देते हुए अंतरराष्ट्रीय कंपनियों से अपील की है कि वे अपने उत्पादों का निर्माण भारत में करें.

प्रधानमंत्री मोदी ने हैनोवर मेले में भाग ले रही जर्मन कंपनियों का आह्वान किया कि वे एक नए भारत के निर्माण में उनके साझेदार बनें. मोदी ने कहा कि देश में निवेशकों के लिए असीम संभावनाएं हैं और बताया कि देश में विश्वस्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करना उनकी सरकार की प्राथमिकता है. मोदी ने कहा, "भारत पूरे विश्व का खुली बांहों से स्वागत करने को तैयार खड़ा है."

बढ़ोत्तरी की असीम संभावनाएं

जर्मनी के केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के अंतरिम आंकड़ों के अनुसार 2014 में जर्मनी और भारत के बीच कुल 15.9 अरब यूरो (16.8 अरब डॉलर) का व्यापार हुआ. यह संख्या बीते तीन सालों से लगातार कम होती गई है. व्यापार की मात्रा के लिहाज से अब भारत जर्मनी के ट्रेड पार्टनरों में 25वें स्थान पर है और रोमानिया, स्लोवाकिया, जापान, दक्षिण कोरिया जैसे देशों से भी पीछे है. इसके मुकाबले भारत का पड़ोसी और व्यापारिक प्रतिद्वंद्वी देश चीन जर्मनी का तीसरा सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर है. चीन के साथ जर्मनी ने बीते साल करीब 154 अरब यूरो का कारोबार किया.

हैनोवर ट्रेड फेयर का इस साल का मोटो है, "इंटीग्रेटेड इंडस्ट्री - जॉइन दि नेटवर्क," जिसमें भविष्य के औद्योगिक उत्पादन के तरीके प्रदर्शित करने की कोशिश हुई है. इसे आमतौर पर "इंडस्ट्री 4.0" के नाम से जाना जाता है. पहला औद्योगिक युग स्टीम पावर यानि भाप की ऊर्जा का था, उसके बाद प्रोडक्शन लाइन, फिर ऑटोमेशन और अब चौथे युग की शुरुआत मानी जा रही है. "इंडस्ट्री 4.0" के तहत मशीनें खुद ही एक दूसरे बातें कर लेती हैं और इंसानी दखल की कम से कम जरूरत होती है. हैनोवर मेला जनता के लिए 17 अप्रैल तक चलने वाला है.

मोदी इस वीकेंड फ्रांस में थे, जहां उन्होंने एक बड़ा रक्षा सौदा किया. जर्मनी आने के बाद उन्होंने एयरबस का दौरा किया और इस मंगलवार तक वह बर्लिन में रहकर जर्मनी के विदेश मंत्री समेत कई दूसरे प्रमुख नेताओं से मुलाकात करेंगे. मंगलवार को 64 वर्षीय भारतीय प्रधानमंत्री मोदी अपने अंतरराष्ट्रीय दौरे के अगले चरण में कनाडा की यात्रा पर निकलने से पहले एक बार फिर जर्मन चांसलर मैर्केल से मिलेंगे.

मार्क हलम/आरआर (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री