1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी ने स्वीकारा ओबामा का न्योता

नरेंद्र मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने औपचारिक रूप से अमेरिका आने का न्योता दिया है. ओबामा ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए उनके साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस आमंत्रण के लिए धन्यवाद देते हुए कहा है कि उन्हें सितंबर में परिणामोन्मुखी यात्रा का इंतजार रहेगा, जिससे ऐसे ठोस परिणाम आएंगे जो रणनीतिक साझेदारी को नई गति और ऊर्जा प्रदान करेंगे. मोदी को ओबामा का आमंत्रण पत्र अमेरिका के उप विदेश मंत्री विलियम बर्न्स ने मुलाकात के दौरान दिया. एक बयान में मोदी ने अमेरिका यात्रा के निमंत्रण के लिए आभार जताते हुए कहा कि उन्हें ऐसी यात्रा का इंतजार है, जो भारत अमेरिका रणनीतिक भागेदारी को नई गति और जोश प्रदान करे.

मोदी का कहना था कि दोनों देशों की भागेदारी को गति प्रदान करने से क्षेत्र और उसके बाहर एक महत्वपूर्ण संदेश जाएगा. मोदी ने कहा कि विश्व के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के आपसी संबंध से सिर्फ इन्हीं दोनों देशों को लाभ नहीं पहुंचना चाहिए बल्कि इसे पूरे विश्व में शांति, स्थिरता और समृद्धि की स्थापना का शक्तिशाली माध्यम बनना चाहिए.

बर्न्स ने भारत के साथ आर्थिक संबंधों को मजबूती देने की ओबामा की इच्छा से प्रधानमंत्री को अवगत कराया. उन्होंने कहा कि अमेरिका अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी और विनिर्माण क्षेत्र, ऊर्जा सुरक्षा बढ़ाने में सहयोग, समुद्री सुरक्षा समेत सुरक्षा सहयोग में बढ़ोतरी, आतंकवादी रोधी और गुप्तचर आदान प्रदान, विस्तृत मशविरा और अफगानिस्तान पर समन्वय और एशिया में सुरक्षा एवं समृद्धि बढ़ाने के लिए और व्यापक तौर पर काम करना शामिल है.

बयान में मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद ओबामा के टेलीफोन कॉल का भी जिक्र किया. ओबामा ने मोदी के प्रधानमंत्री बनने के फौरन बाद उन्हें फोन पर बधाई दी थी. मोदी ने ओबामा के विस्तृत और विचारशील पत्र की भी प्रशंसा की.

एए/एजेए (पीटीआई, वार्ता)

संबंधित सामग्री