1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी ने कश्मीरी युवाओं के सामने रखे भविष्य के दो रास्ते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू और कश्मीर को जोड़ने वाली 9.2 किमी लंबी सुरंग का उद्घाटन किया. इंजीनियरों और तकनीकी दल को यह सुरंग तैयार करने में छह साल का समय लगा है.

सुरंग के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने उधमपुर में एक रैली को संबोधित करते हुये कहा कि युवाओं के सामने भविष्य के दो रास्ते हैं. पहला पर्यटन का तो दूसरा आतंकवाद का. उन्होंने कहा कि दशकों से चल रहे रक्तपात ने घाटी में पर्यटन को सबसे अधिक प्रभावित किया है. मोदी ने वादा किया कि अपने पहाड़ों, झीलों, नदियों, तालाबों और धार्मिक स्थानों के लिये मशहूर कश्मीर के इस क्षेत्र के पर्यटन को वे प्रोत्साहित करेंगे. उन्होंने कहा कि इस नयी सुरंग के चलते खराब मौसम में पर्यटक नहीं फंसेंगे. इसके साथ ही इस क्षेत्र में पर्यटन भी बढ़ेगा.

मोदी ने कहा कि इस नई सुरंग से किसानों को लाभ मिलेगा और अब कम समय में वह अपनी उपज को एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकेंगे. सरकार की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि इस परियोजना ने जम्मू और कश्मीर के 2,000 से भी अधिक कुशल और अकुशल युवाओं को रोजगार प्रदान किया है. भविष्य की योजनाओं का जिक्र करते हुये मोदी ने कहा कि हमारी योजनायें राज्य में ऐसी 9 सुरंग तैयार करने की है.

मोदी ने कहा एक तरफ कश्मीर में युवा पत्थर फेंकते हैं तो वहीं ऐसे युवा भी हैं जो इन्हीं पत्थरों को तराश कर ऐसी सुंरग बना रहे हैं.

मोदी सरकार में मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस सुंरग के बाद इस क्षेत्र में यात्रा करना आसान होगा और समय भी बचेगा. उन्होंने कहा कि यह बारिश और बर्फ गिरने से बंद हो जाने वाले राजमार्ग का विकल्प है, जिससे राज्य के व्यापार और राजस्व में वृद्धि होगी.

राज्य के अलगाववादी गुटों ने मोदी की इस यात्रा के विरोध में हड़ताल का आह्वान किया था. श्रीनगर के नोहेट्टा क्षेत्र में रविवार को हुए एक ग्रेनेड हमले की चपेट में आने से गश्त लगाकर लौट रहे एक पुलिसकर्मी की मौत और 10 सुरक्षा अधिकारी घायल हो गये थे.

एए/आरपी (एपी,रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री